You are here:

समाचार

मेडिकल कॉलेज में धमाका, दो घायल

कोलकाता शहर के नेशनल मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में कम तीव्रता का एक विस्फोट हुआ, जिसमें दो व्यक्ति घायल हो गए।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि नेशनल मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में दो सफाईकर्मी एक प्लॉस्टिक के कंटेनर को हिलाने की कोशिश कर रहे थे कि अचानक उसमें धमाका हो गया। दोनों सफाईकर्मी घायल हो गए। कंटेनर में कार्बाइड सामग्री थी।

पुलिस के अनुसार, यह विस्फोट मामूली था और कोई मरीज घायल नहीं हुआ। घटना की जांच के लिए बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंच गया है।

मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य सिद्धार्थ चक्रवर्ती ने कहा कि अस्पताल में कामकाज सामान्य रूप से चल रहा है। (भाषा

   

आदर्श मामले में अशोक चव्हाण की पेशी

मुम्बई महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण आदर्श हाउसिंग सोसायटी घोटाले की जांच के लिए राज्य सरकार द्वारा गठित आयोग के समक्ष शनिवार को पेश हुए

नवंबर, 2010 में इस कथित घोटाले के सामने आने के बाद मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने वाले चव्हाण, सीबीआई द्वारा दर्ज मामले में 14 आरोपियों में एक हैं। सीबीआई कोलाबा में खड़ी इस 31 मंजिला इमारत के निर्माण में कई अनियमितताएं और नियमों के उल्लंघन के आरोपों की जांच कर रही है।

सीबीआई ने अपनी प्राथमिकी में आरोप लगाया है कि बतौर राजस्व मंत्री चव्हाण ने रक्षाकर्मियों के लिए बन रही इस सोसायटी में नागरिकों को भी शामिल करने की अनुमति दी थी और उसके बदले में दक्षिण मुम्बई की इस ऊंची इमारत में उनके (चव्हाण के) रिश्तेदारों को फ्लैट मिले। इस प्राथमिकी में कई सेवानिवृत सैन्य अधिकारियों एवं नौकरशाहों के भी नाम हैं।

विलासराव देशमुख जब पहली बार 1999 से 2003 तक मुख्यमंत्री थे तब चव्हाण उनके मंत्रिमंडल में राजस्व मंत्री थे। (

   
img1120630025 1 2

इस संकट से उबर जाएंगे- डीवी सदानंद गौड़ा

बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री डीवी सदानंद गौड़ा ने अपने नेतृत्व के खिलाफ येदियुरप्पा खेमे के विद्रोह से विचलित हुए बिना शनिवार को विश्वास जताया कि पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के हस्तक्षेप से इस संकट का समाधान हो जाएगा।
    गौड़ा ने राज्यपाल एचआर भारद्वाज से राजभवन में मुलाकात की और वित्त विधेयक (बजट) को पारित करने के लिए अगले महीने विधानसभा का सत्र बुलाने पर विचार विमर्श किया। इसके अलावा उन्होंने नौ मंत्रियों के इस्तीफे के मुद्दे पर भी राज्यपाल को जानकारी दी।
    मुख्यमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के प्रति निष्ठा रखने वाले नौ मंत्रियों के इस्तीफे राज्यपाल को नहीं दिए।
    पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष केएस ईश्वरप्पा ने यह पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि इन इस्तीफों को स्वीकार करने का प्रश्न ही नहीं उठता। ये मंत्री मुख्यमंत्री डीवी सदानंद गौड़ा को हटाकर अपने पसंदीदा जगदीश शेट्टार को मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं।
    गौड़ा ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी और कर्नाटक में पार्टी मामलों के प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान से मंत्रियों के इस्तीफे के मुद्दे पर कल रात बात की है। उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं ने इस संकट का आसानी से हल निकल जाने का विश्वास जताया है।
    मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधान आज दोपहर को बेंगलुरु से आ रहे हैं और सभी लोगों से विचार विमर्श करेंगे।
    इधर ईश्वरप्पा ने उम्मीद जताई कि गौड़ा और शेट्टार का समर्थन कर रहे ‘मित्र’ पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के फैसले का पालन करेंगे।
    श्रम एवं सेरीकल्चर मंत्री बीएन बाचे गौड़ा ने यहां सदानंद गौड़ा से मुलाकात करने के बाद संवाददताओं से कहा कि नेतृत्व परिवर्तन का सवाल ही नहीं उठता। उन्होंने कहा कि सभी ‘चिह्नित’ 12 मंत्रियों की आज दोपहर में एक बैठक होगी।
    बाचे गौड़ा ने कहा ‘नेतृत्व परिवर्तन का सवाल ही नहीं उठता। वहां (सदानंद गौड़ा) मुख्यमंत्री बने रहेंगे। इस्तीफा सौंपने वाले मंत्री शेट्टार, सीएम उदासी, बासवराज बोम्मई, मुरूगेश निरानी, वी सोमन्ना, उमेश कट्टी, एमपी रेणुकाचार्य, रेवु नायक बेलमागी और राजू गौड़ा हैं। (भाषा)

   

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1801054

Site Designed by Manmohit Grover