You are here:

समाचार

लेडी हार्ले बाइकर वीनू की मौत, दोस्तों का आरोप- गलत इंजेक्शन से गई जान

भोपाल/विदिशा.जयपुर की मशूहर लेडी बाइकर वीनू पालीवाल की मौत मामले में नया मोड़ आ गया है। वीनू के साथियों ने आरोप लगाया है कि एक्सीडेंट के बाद विदिशा के पास ग्यारसपुर के गवर्नमेंट हॉस्पिटल में नर्स ने वीनू को गलत इंजेक्शन दिया, जिससे उनकी मौत हुई। वहीं, पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टरों ने कहा है कि एक्सीडेंट में वीनू का लीवर बर्स्ट हुआ था, इससे उनकी मौत हो गई। बता दें कि वीनू का सोमवार शाम छह बजे एक्सीडेंट हुआ था। वीनू के दोस्त क्या आरोप लगा रहे हैं...
- वीनू के साथ इंडिया टूर पर निकले उनके दोस्त शांतनु सिंह ने बताया कि एक्सीडेंट के बाद वीनू को ग्यारसपुर के गवर्नमेंट हॉस्पिटल में ले गए थे। शांतनु के मुताबिक वीनू की कोहनी में गहरी चोट थी। वहां नर्स ने वीनू को पेन रिलीफ के लिए इंजेक्शन दिया।
- शांतनु के मुताबिक, इंजेक्शन लगवाने के बाद वो वीनू को लेकर विदिशा के लिए रवाना हुए। लेकिन उनकी हालत बिगड़ती गई। विदिशा हॉस्पिटल पहुंचने पर डॉक्टरों ने कहा कि वीनू की मौत हो चुकी है।
- ग्यारसपुर से विदिशा तकरीबन 35 किमी है। शांतनु के मुताबिक वीनू को सिर्फ दाहिने हाथ की कोहनी और पैर में ही चोट थी। इसके अलावा कहीं भी चोट के निशान नहीं थे।
- वीनू के दोस्तों का कहना है कि वह बाइक चलाने के दौरान पूरी तरह कवर्ड थी।
कौन था वीनू के साथ?
- 40 साल की वीनू के साथ उनके दोस्त दीपेश भी थे।
- दीपेश व वीनू अलग-अलग बाइक पर सागर से भोपाल आ रहे थे। इसी दौरान शाम को ग्यारसपुर के पास एक मोड़ पर वीना की बाइक स्लिप हो गई।
- वीनू 2016 में एक फिल्म भी बनाने वाली थीं। वीनू ने स्कूल के दिनों से 150 सीसी वाली बाइक से इस पैशन की शुरुआत की।
- इसके बाद इन्होंने 500 सीसी की रॉयल एनफील्ड चलाना शुरु किया था। इनके एक फ्रेंड के पास हार्ले 48 मॉडल था।
- अपनी हार्ले डेविडसन को उन्होंने हॉग रानी नाम दिया था।
फिल्म बनाने के लिए निकली थीं इंडिया टूर पर
हार्ले डेविडसन पर वीनू 'ये है इंडिया' का फ्लैग लेकर चलने वाली थी। यह उनकी आने फिल्म का नाम था। इसके लिए उन्होंने देश भर की कई खूबसूरत तस्वीरें खींची थी और वे यह बताना चाहती थीं कि इंडिया बेहद खूबसूरत है।

   

सोनिया के दौरे से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका,4 नगरसेवक भाजपा में शामिल

नागपुर. सोमवार को होने वाली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की रैली के पहले कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा है। मौदा नगर पंचायत के अध्यक्ष उमेश गभणे सहित चार नगरसेवकों ने कांग्रेस को राम-राम ठोंकते हुए भाजपा में प्रवेश किया। नगरसेवकों में निखिलेश ढोले, नंदा श्रावणकर, सुनीता सानगडीकर समेत कार्यकर्ता भी बड़ी संख्या में शामिल हुए।
पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले के मार्गदर्शन और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी की उपस्थिति में इन नेताओं ने भाजपा का दामन थामा। इस अवसर पर सांसद अजय संचेती, विधायक अनिल सोले, गिरीश व्यास, महापौर प्रवीण दटके भी उपस्थित थे।
    वर्धा रोड स्थित एक होटल में यह प्रवेश कार्यक्रम हुआ। मौदा में कांग्रेस के िलए यह बड़ा झटका माना जा रहा है। सोनिया गांधी का नागपुर दौरा और आगामी जिला परिषद चुनाव को देखते हुए इस कार्यक्रम को अधिक महत्व प्राप्त हो गया है। प्रवेश कार्यक्रम के दौरान मौदा नप के अध्यक्ष उमेश गभणे ने पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले के नेतृत्व पर विश्वास जताते हुए कहा कि पालकमंत्री पर विश्वास पर मैंने भाजपा में प्रवेश किया है। अनेक दिनों से मन में विचार चल रहा था, किन्तु उचित समय नहीं आया था।
आज तीनों नेताओं की प्रमुख उपस्थिति में प्रवेश लिया। नगरसेवक निखिलेश ढोले, नंदा श्रावणकर, सुनीता सानगडीकर ने भी अपने-अपने विचार रखते हुए कहा कि मौदा में अब कांग्रेस बची नहीं है। अब भाजपा को मजबूत करने के लिए अधिक काम करेंगे

   

सरकार को घेरने कांग्रेस की महारैली आज, सोनिया- राहुल की पहली संयुक्त रैली

नागपुर.कांग्रेस उपाध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी पहली बार पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ सार्वजनिक मंच साझा करेंगे। इस पल को ऐतिहासिक बनाने के लिए कांग्रेसी जी-जान से जुट गए हैं। इस राजनीतिक माहौल को कांग्रेस भुनाने की तैयारी में है। नागपुर में सोमवार 11 अप्रैल को आयोजित इस रैली को संघ से सीधी भिड़ंत के रुप में भी देखा जा रहा है।
कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोकराव चव्हाण ने भी संघ पर सीधा प्रहार किया। श्री चव्हाण ने कहा कि संघ देश का सामाजिक सौहार्द्र बिगाड़ने का काम कर रहा है। संघ संविधान को नहीं मानता, इसलिए संविधान के बाहर जाकर काम कर रहा है। सरकार का उसे पूरी संरक्षण है। ऐसे में संविधान पर संकट मंडरा रहा है।
संविधान को संरक्षण देने की जरूरत है। कांग्रेस इसके लिए कटिबद्ध है। श्री चव्हाण ने कहा कि संघ और भाजपा ने संविधान विरोधी भूमिका अपना रखी है। कभी आरक्षण के विरोध में बोलते हैं तो कभी कुछ। अब सरकारी विज्ञापनों की भाषा भी बदलने लगी है।
यह सरकार की नहीं, संघ की भाषा है। संविधान की आत्मा को बदला जा रहा है। मौजूदा राजनीतिक माहौल में इस रैली का महत्व अधिक बढ़ गया है। डॉ. बाबासाहब आंबेडकर की 125वीं जयंती समारोह का समापन कांग्रेस सोमवार 11 अप्रैल को महात्मा ज्योतिबा फुले की जयंती पर नागपुर में करने जा रही है।
इसे कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन भी माना जा रहा है। कांग्रेस ने देशभर से इस रैली के लिए कार्यकर्ताओं को इकट्ठा करने की योजना बनाई है। कांग्रेस ने 2.50 से 3 लाख लोगों के आने का दावा किया है। देश भर से दिग्गज भी पधारने जा रहे हैं।
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, पूर्व गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे, अशोक गहलोत नागपुर पहुंच चुके हैं। कल सुबह लोकसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खडगे, राज्यसभा में प्रतिपक्ष नेता गुलाब नबी आजाद, कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया, शिवराज पाटील, अजीत जोगी, के. राजू आदि पहुंचेंगे।
सोनिया व राहुल 3.30 बजे पहुंचेंगे
सोनिया गांधी व राहुल गांधी सोमवार दोपहर 3.30 बजे नागपुर विमानतल पर पहुंचेंगे, जहां से वे सीधे दीक्षाभूमि पहुंचेंगे। यहां वे डॉ.बाबासाहब आंबेडकर व तथागत बुद्ध की प्रतिमा को अभिवादन कर, रवि भवन की ओर रवाना होंगे। तत्पश्चात करीब 5 बजे तक वे कस्तूरचंद पार्क पर आएंगे। हालांकि उनके आगमन से पहले कांग्रेस अपनी सभा शुरू कर देगी। इस दौरान राष्ट्रीय स्तर के अन्य नेता सभा को संबोधित करेंगे।
सोनिया के एयर क्राफ्ट की अगुवाई करेंगे दो हेलीकॉप्टर
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी नागपुर विमानतल पर एयर क्राफ्ट से आएंगी, जिसकी अगुवाई दो हेलीकॉप्टर करेंगे। ये हेलीकॉप्टर दिल्ली से आएंगे और एयर क्राफ्ट के आगमन के बाद वापस चले जाएंगे। एयर क्राफ्ट के आने का समय की जानकारी अभी तक अधिकारिक रूप से नहीं बताई गई है, यह जानकारी फिलहाल सिर्फ विशेष सुरक्षा दल (एसपीजी) के पास है।
सूत्रों के अनुसार, उनका एयर क्राफ्ट नागपुर में दोपहर करीब 11 बजे उतरेगा। एयर क्राफ्ट में सोनिया गांधी, राहुल गांधी के अलावा एक दो और ्िवशेष लोग हो सकते हैं। एयर क्राफ्ट में 5 से 6 एसपीजी कमांडो भी होंगे।
राहुल गांधी से मिलेंगे सर्राफा व्यापारी
पिछले डेढ़ महीने से हड़ताल कर रहे सर्राफा व्यापारी अपनी आवाज सरकार तक पहुंचाने के लिए नित नये प्रयोग कर रहे हैं। इसके बावजूद सरकार के कानों पर जूं नहीं रेंग रही है। अब सर्राफा व्यापारियों ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने का मन बनाया है।
खबर है कि सोमवार को कांग्रेस रैली के बाद सर्राफा व्यापारी रविकांत हरडे, संजय खुले के नेतृत्व में व्यापारियों का एक शिष्टमंडल रवि भवन में राहुल गांधी से मिल सकता है। इस दौरान विभिन्न समस्याएं उनके सामने रख, सरकार पर दबाव बनाने की मांग की जाएगी।

   

बिहार में 2 मर्डर: दवा कारोबारी को मारी गोली, कोर्ट कैम्पस में कैदी की हत्या

पटना.बिहार में सोमवार को दो लोगों के सरेआम मर्डर की खबर है। पटना में एक दवा कारोबारी को उसकी दुकान के सामने ही गोली मार दी गई। मर्डर के बाद आरोपी पैदल ही फरार हो गए। दूसरा मामला, मुजफ्फरपुर कोर्ट कैम्पस का है। यहां एक कैदी की कुछ लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी। पटना में कैसे हुई वारदात....
- दवा कारोबारी अनिल कुमार सुबह 9.30 पर दुकान खोलने पहुंचे।
- हमलावर वहां पहले से मौजूद बताए गए हैं। अनिल ने जैसे ही दुकान खोलना शुरू किया, उन पर गोलियां चलाई गईं।
- आसपास मौजूद लोगों ने अनिल को हॉस्पिटल पहुंचाया। लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।
- बताया जा रहा है कि हमलावर गोली चलाने के बाद पैदल ही फरार हुए।
- पुलिस CCTV फुटेज के जरिए कातिलों की पहचान की कोशिश कर रही है।
- मर्डर ने नाराज दवा कारोबारियों ने पुलिस को आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 72 घंटे का वक्त दिया है।
- सूत्रों के मुताबिक, यह मामला एक्सटॉर्शन से जुड़ा हो सकता है।
- एसएसपी मनु महाराज ने कहा कि हमलावरों की तलाश की जा रही है।
मुजफ्फरपुर: कोर्ट परिसर में कैदी को मारी गोली
- सोमवार को ही मुजफ्फरपुर कोर्ट परिसर में कुछ लोगों ने सूरज नाम के कैदी की गोली मारकर हत्या कर दी।
- घटना से नाराज कैदियों ने अदालत के कस्टडी रूम (हाजत) में हंगामा और तोड़फोड़ की।
- बताया जाता है कि कैदी सूरज को पेशी के लिए कोर्ट लाया गया था।
- इसी दौरान बाइक पर आए दो लोगों ने उसे करीब से गोलियां मारीं।

   

रॉयल कपल की सिक्युरिटी: टेरर इफेक्टेड देशों के टूरिस्ट्स को नहीं मिलेंगे रूम?

आगरा (यूपी).ब्रिटिश शाही घराने की तीसरी पीढ़ी के प्रिंस विलियम और केट मिडलटन 16 अप्रैल को ताज का दीदार करने आ रहे हैं। उनकी सिक्युरिटी को देखते हुए शहर के होटलों में आतंक से इफेक्टेड पाकिस्तान, सीरिया, इराक, ईरान जैसे देशों से आने वाले टूरिस्टों को रूम देने पर 'अनऑफिशियली बैन' लगा दिया गया है। क्यों लगाया गया बैन...
- होटल के ओनर्स का कहना है कि किसी भी तरह की अनहोनी होने पर सबसे पहले उन्हें ही पुलिस हैरेसमेंट का सामना करना पड़ता है।
- इसी वजह से यह डिसीजन लिया गया है।
- बता दें, इस तरह के उपाय हर वीवीआईपी दौरे के दौरान होटल ओनर्स ही लेते हैं।
- आतंक से इफेक्टेड देशों से आने वाले टूरिस्ट को सीधे ये नहीं बताया जाता कि उन्हें रूम नहीं दिए जाएंगे।
- उन्हें होटल में कोई रूम खाली न होने की बात कह दी जाती है।
क्यों होती है हर व्यवसायी की बदनामी?
- ताजमहल के पास होटल चला रहीं एक महिला बिजनेसमैन ने बताया कि कोई वीआईपी आता है तो उस समय पुलिस होटल ओनर्स को काफी परेशान करती है।
- इसीलिए कुछ देशों के लोगों को हम रूम नहीं देते हैं।
- कैंट के ईदगाह में होटल चला रहे एक बीजेपी नेता ने बताया कि वीआईपी विजिट के दौरान परेशानी से बचने के लिए अनऑफिशियली ऐसा करना पड़ता है।
- होटल ओनर और गाइड पवन के मुताबिक, हमारे यहां ऐसा नहीं है, लेकिन आजकल बहुत लोग अपने होटल को किराए पर उठा देते हैं।
- किराएदार होटल को सिर्फ पैसा कमाने के लिए चलाता है और यहां हर गलत काम करवाता है। इससे हर व्यवसायी की बदनामी होती है।
- ऐसे लोगों के कारण ही सही लोगों को भी पुलिस का सामना करना पड़ता है।
क्या कहना है पुलिस का?
- एसपी एलआईयू सत्यम कुमार ने बताया कि ब्रिटेन शाही जोड़े की विजिट के दौरान होटल ओनर्स से सीरिया, तुर्की, पाकिस्तान, ईरान और इराक जैसे देशों के लोगों को कमरे न देने की बात नहीं कही गई है।
- हालांकि, होटल के ओनर्स को खुद खतरे के बारे में पता है, ये अच्छी बात है।
- वहीं, एसपी प्रोटोकॉल विद्या सागर मिश्रा ने बताया कि होम मिनिस्ट्री और फॉरेन मिनिस्ट्री की विशेष मांग के पर रॉयल कपल की विजिट के लिए सिक्युरिटी पर जोर दिया गया है।
- होटल ओनर्स को किसी भी देश के पर्यटक को रूम देने से मना नहीं किया गया है।
- उनके लिए ये जरूरी है कि वह वीजा, पासपोर्ट और पर्यटन के अन्य दस्तावेजों की एक कॉपी अपने पास रखें।
- कुछ भी संदिग्ध लगने पर तुरंत हमें सूचना दें।
फॉरमैलिटीज पूरी होने के बाद दिया जाएगा रूम
- होटल और रेस्त्रां ओनर्स एसोसिएशन के प्रेसिडेंट रमेश कुमार वाधवा ने बताया कि हम किसी भी देश से आने वाले टूरिस्ट्स के लिए रूम देने से इनकार नहीं कर रहे हैं।
- हां, टूरिस्ट को पहचान संबंधी सभी फॉरमैलिटी पूरी हो जाने के बाद ही रूम देंगे।
- वहीं, पर्यटन मित्र संस्था के प्रेसिडेंट राजीव तिवारी ने कहा कि हमें सुरक्षा एजेंसियों के साथ सिक्युरिटी के सभी प्वॉइंट्स पर विचार कर सॉल्यूशन निकालना चाहिए।
- अगर टूरिस्ट्स को रूम नहीं दिया जाता तो इसका आगरा की टूरिज्म इंडस्‍ट्री पर बुरा असर पड़ेगा और ताजनगरी का नाम खराब होगा।

   

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1801020

Site Designed by Manmohit Grover