You are here:

मेट्रो में नशा बैन हो, पैसेंजर्स के पास लाइटर-माचिस मिली तो 500 रु. का चालान: सरकार

दिल्ली.दिल्ली मेट्रो के अंदर पैसेंजर्स को लाइटर और माचिस ले जाने की इजाजत है, जिस पर दिल्ली सरकार के हेल्थ डिपार्टमेंट ने ऐतराज जताया है। डिपार्टमेंट ने इस बारे में दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) को नोटिस भेजा है। इसमें कहा गया है कि अगर अब मेट्रो के अंदर लाइटर और माचिस ले जाने की इजाजत दी गई तो डीएमआरसी पर कानून कार्रवाई की जाएगी। अगर छापेमारी में कोई लाइटर-माचिस के साथ मिला तो 500 रुपए का चालान कटेगा। बता दें कि डिपार्टमेंट पहले भी दिल्ली मेट्रो को नोटिस जारी कर चुका है।मेट्रो में नशा करने पर बैन होना चाहिए...
- एडिशनल डायरेक्टर हेल्थ डॉ. एसके अरोड़ा ने बताया कि सिगरेट एंड अदर टोबैको प्रोडक्ट एक्ट (कोटपा) के तहत मेट्रो के अंदर नशा करना बैन होना चाहिए। लेकिन बार-बार नोटिस देने के बावजूद डीएमआरसी मेट्रो के अंदर लाइटर और माचिस ले जाने पर रोक नहीं लगा रही है।
- उन्होंने बताया कि इस नोटिस के बाद भी अगर रोक नहीं लगाई गई तो डिपार्टमेंट मेट्रो परिसर के अंदर छापेमारी कर चालान काटेगा। चालान का भुगतान नहीं करने पर हेल्थ डिपार्टमेंट डीएमआरसी के खिलाफ कोर्ट भी जा सकता है।
- अब पैसेंजर्स के पास लाइटर और माचिस मिलने पर 500-500 रुपए का चालान काटा जाएगा। एक यात्री से चालान के तौर पर जितनी रकम ली जाएगी, उतनी ही डीएमआरसी से भी वसूली जाएगी।

   

टेररिस्तान है पाकिस्तान, वह ध्यान रखे कि कश्मीर हमारा हिस्सा है: भारत

जेनेवा. भारत ने शुक्रवार को यूएन में कहा कि पाकिस्तान टेररिस्तान है। वह आतंकियों की इंडस्ट्री चला रहा है और उन्हें दुनियाभर में भेज रहा है। पाक को हमेशा ये ध्यान रखना चाहिए कि कश्मीर हमारा अभिन्न हिस्सा है। बता दें कि पाक के पीएम शाहिद खाकान अब्बासी ने गुरुवार को यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली में दी स्पीच में कश्मीर का मुद्दा उठाया था। अब्बासी ने यूएन से कश्मीर में एक विशेष दूत तैनात करने की अपील की। साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि भारत कश्मीर के लोगों के संघर्ष को कुचल रहा है। आतंकवाद का दूसरा नाम है पाकिस्तान...
पाक ने ही लादेन-मुल्ला उमर को पनाह दी थी
- भारत की यूएन में फर्स्ट सेक्रेटरी एनम गंभीर ने कहा कि ये अपने आप ने चौंकाने वाला है कि जिस देश ने ओसामा बिन लादेन और मुल्ला उमर जैसे आतंकियों को पनाह दी, वही देश अब खुद को विक्टिम बता रहा है। भारत ने ये पाकिस्तान को ये जवाब राइट टू रिप्लाई सेशन के तहत दिया है।
- "अपने छोटे से इतिहास में पाकिस्तान आतंकवाद का दूसरा नाम बन चुका है। पाकिस्तान की धरती विशुद्ध रूप से आतंक को ही पैदा करती है।"
- "पाकिस्तान अब टेररिस्तान है। वो आतंकियों की आतंकियों की फैक्ट्री चला रहा है और दुनियाभर में उन्हें एक्सपोर्ट करता है।"
- "पाकिस्तान को ये समझना होगा कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और हमेशा रहेगा। पाकिस्तान क्रॉस बॉर्डर टेररिज्म को बढ़ावा देता है। उसे भारत की सीमाओं में घुसने में कभी कामयाबी नहीं मिलेगी।"
पाकिस्तान की सड़कों पर आतंकी घूमते हैं
- गंभीर ने कहा कि पाक में आतंकी खुलेतौर पर सड़कों पर घूमते हैं। उन्हें पूरा संरक्षण हासिल है और हमें भारत में ह्यूमन राइट्स प्रोटेक्शन पर भाषण दिए जाते हैं।
- "जो देश पहले ही नाकाम साबित हो चुका हो, उसे दुनिया को डेमोक्रेसी और ह्यूमन राइट्स के बारे में लेक्चर देने की जरूरत नहीं होनी चाहिए। पाकिस्तान जितना आतंकवाद को बढ़ावा देता है, उतना कोई और देश नहीं करता। पाकिस्तान से केवल विनाशकारी सोच को छोड़ने के लिए बात की जा सकता है। यही पूरी दुनिया के दुख का कारण है।"
- "पाकिस्तान की पॉलिसी रही है कि वह या तो वह ग्लोबल टेररिस्ट को अपने मिलिट्री टाउन में पनाह दे रहा है या फिर उनके पॉलिटिकल करियर को संवारने की कोशिश में जुटा है। कोई भी इसमें पाकिस्तान की इन कोशिशों को सही नहीं ठहरा सकता।"
- "पाकिस्तान अपनी जमीन पर आतंकी इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने के लिए करोड़ों डॉलर्स की मदद कर रहा है। आज पाक अपने यहां पनप रही टेरर इंडस्ट्री के बारे में बात कर रहा है। हम बस इतना कहना चाहते हैं कि पाक को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी।"
UN में क्या बोले थे पाक PM शाहिद खाकान अब्बासी?
- "मुझे लगता है कि मूल मुद्दा कश्मीर है। सिक्युरिटी काउंसिल के डिक्लेरेशन को लागू करना एक बड़ी शुरुआत होगी, जिससे एक-दूसरे की चिंता का समाधान करने और इस इलाके और पाकिस्तान-भारत के बीच शांति बनाए रखने में मदद मिलेगी। यह दोनों देशों के बीच अहम मुद्दा है।"
- अपनी स्पीच के दौरान अब्बासी ने 17 बार कश्मीर का जिक्र किया और 14 बार भारत का जिक्र किया। अब्बासी ने यह भी कहा कि पाकिस्तान बनने के पहले दिन से ही इसे अपने पड़ोसी से लगातार दुश्मनी का सामना करना पड़ रहा है।
- कश्मीर मुद्दे पर बोलते हुए अब्बासी ने कहा, "जम्मू-कश्मीर के लोगों के संघर्ष को भारत कुचल रहा है।"(पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)
- अब्बासी ने कहा- "भारत यूनाइटेड नेशंस सिक्युरिटी काउंसिल के प्रस्तावों को लागू करने से इनकार करता है। जिसके मुताबिक जम्मू-कश्मीर के लोगों को जनमत संग्रह के जरिए अपने भाग्य का फैसला करने का अधिकार है। इसके बदले भारत ने कश्मीरियों के संघर्ष को कुचलने के लिए 7 लाख सैनिकों को कश्मीर में तैनात कर दिया है।"
"कश्मीर मुद्दे को न्यायसंगत, शांतिपूर्ण और तेजी से निपटाना चाहिए। जबकि भारत-पाकिस्तान से शांति वार्ता करने को तैयार नहीं है। ऐसे में यूएन को कश्मीर में एक विशेष दूत तैनात करना चाहिए।"

   

PAK में है दाऊद, फोन टैपिंग के डर से रिश्तेदारों से बात नहीं करता: भाई ने बताया

मुंबई.अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में है और अलग-अलग शहरों में उसके चार से पांच घर हैं। यह खुलासा दाऊद के भाई इकबाल कासकर ने पुलिस को दिए बयान में किया। कासकर को पिछले दिनों ठाणे पुलिस ने जबरन वसूली के आरोप में अरेस्ट किया था। ठाणे पुलिस के एक सीनियर ऑफिसर ने बताया कि कासकर ने पूछताछ में बताया कि दाऊद पाकिस्तान अपने ठिकाने बदलते रहता है। बता दें कि गुरुवार को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे ने दावा किया है कि 1993 बॉम्बे सीरियल ब्लास्ट केस का मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम खुद भारत आना चाहता है। बीजेपी के लोग उसके कॉन्टैक्ट में हैं।फोन टैपिंग के डर से दाऊद रिश्तेदारों से बात करने से कतराता है ...
कासकर ने और क्या खुलासे किए
- कासकर ने पूछताछ में बताया - "फोन टैपिंग के डर से दाऊद इंडिया में रह रहे अपने रिश्तेदारों से बात करने में कतराता है। मैं साल 2003 में दुबई में किसी जगह पर दाऊद से मिला था।"
- इकबाल ने अपने एक और भाई अनीस अहमद से संपर्क में होने की बात को स्वीकार किया है। अनीस ही दाऊद का पूरा कारोबार देखता है। वह भी दाऊद के साथ पाकिस्तान में रहता है।
- इकबाल के मुताबिक, ईद के दिन अनीस ने उसे इंटरनेशनल नंबर से कॉल किया था।
कासकर से क्या सवाल पूछे गए?
- इकबाल से पूछा गया है कि, वह अपने भाई दाऊद से दिन में कितनी बार बात करता ह?, दाऊद और उसके बीच की कड़ी कौन है? और उनके आपस में संपर्क कैसे होता है?
- इतना ही नहीं जांच एजेंसी डी कंपनी के हवाला नेटवर्क को खंगालने में भी जुटी है। वो इस एंगल से भी इकबाल कासकर से पूछताछ कर रही हैं।
जांच में सहयोग नहीं कर रहा इकबाल
- सूत्रों के मुताबिक, इकबाल कासकर जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। वो बार-बार ये बहाना बना रहा है कि उसकी यादाश्त कमजोर है और उसे हाई ब्लड प्रेशर की भी दिक्कत है।
- इस बीच इकबाल कासकर और उसके साथ गिरफ्तार दोनों आरोपियों के खिलाफ एक और एक्सटॉर्शन का मामला दर्ज हो गया है। पीड़ित ठाणे का ही जौहरी है जिससे इकबाल और उसके साथियों ने लाखों की वसूली के अलावा गोल्ड भी वसूला था।
- इकबाल पर पिछले तीन साल के दौरान ठाणे के एक बिल्डर और ज्वेलर से 100 करोड़ रुपए वसूलने का आरोप है। हालांकि, कासकर इन आरोपों से लगातार इनकार करता रहा है। वह किसी भी एक्सटॉरशन रैकेट में शामिल होने की बात से इनकार कर रहा है।
पहले भी गिरफ्तार हो चुका है इकबाल
- इकबाल को 3 फरवरी 2015 को भी मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था। तब उस पर मो. सलीम शेख नाम के रियल एस्टेट एजेंट ने तीन लाख रुपए मांगने और पिटाई करने का आरोप लगाया था। इकबाल को 2003 में दुबई से प्रत्यर्पण (Extradition) करके लाया गया था। आने के बाद उस पर सारा सहारा मामले में केस चला, लेकिन सबूत की कमी की वजह से वह बरी हो गया था।
ऐसा है दाऊद इब्राहिम का परिवार
- दाऊद इब्राहिम के 4 भाई और दो बहने हैं। मुंबई ब्लास्ट के बाद दाऊद अपने दो भाई अनीस और नूरा इब्राहिम दाऊद के साथ पाकिस्तान भाग गया था। 2007 में कराची में हुए एक हमले में नूरा का निधन हो गया था। वहीं, अनीस आज भी दाऊद के पाकिस्तान और यूएई के कारोबार को संभाल रहा है।
- दाऊद इब्राहिम का चौथे नंबर का भाई इकबाल कासकर और उसकी दो बहने हसीना पारकर और सईदा मुंबई में रहते थे। हसीना की हार्टअटैक और सईदा की नदी में डूबने से मौत हो चुकी है। जबकि कासकर आज भी मुंबई में अपनी पत्नी और 3 बच्चों के साथ रह रहा है।
- दाऊद की पत्नी का नाम महजबीन उर्फ जुबीना जरीना है। दाऊद के चार बच्चे है जिनमें एक लड़का और तीन लड़कियां है। दाऊद की सबसे छोटी बेटी की मौत हो चुकी है।
- दाऊद के बेटे का नाम मोइन इब्राहिम, बड़ी बेटी का नाम माहरुख और छोटी बेटी का नाम माहरीन है। दाऊद की बड़ी बेटी माहरुख की शादी पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद के बेटे जुनैद मियांदाद से हुई है।
- दाऊद इब्राहिम के पिता का नाम इब्राहिम कासकर था। वह एक पुलिस कॉन्स्टेबल थे।
दाऊद इब्राहिम भारत आना चाहता है, BJP के लोग उसके कॉन्टैक्ट में: राज ठाकरे
- महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे ने गुरुवार को दावा किया था कि 1993 बॉम्बे सीरियल ब्लास्ट केस का मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम खुद भारत आना चाहता है। बीजेपी के लोग उसके कॉन्टैक्ट में हैं। अगर दाऊद की वापसी होती है तो बीजेपी इसका वोट के लिए इस्तेमाल करेगी। ठाकरे ने यह दावा गुरुवार को अपने फेसबुक पेज की लॉन्चिंग की मौके पर किया। सोशल मीडिया से दूरी रखने वाले राज ने पार्टी को बढ़ाने और युवाओं में पैठ बढ़ाने के लिए फेसबुक पेज लॉन्च किया है। इससे 4 लाख लोग जुड़ चुके हैं।

   

स्कूल में बच्चों की सुरक्षा को लेकर गाइडलाइंस बनाने वाली पिटीशन पर SC में आज सुनवाई

नई दिल्ली.स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा के मामले में दायर एक पिटीशन पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो सकती है। ये अपील कई महिला वकीलों ने दायर की है। इसमें कहा गया है कि स्कूलों में सुरक्षा को लेकर गाइडलाइंस तो हैं, लेकिन उन्हें कोई फॉलो नहीं करता। बुधवार को सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) ने बच्चों की सिक्युरिटी के मद्देनजर स्कूलों के लिए गाइडलाइंस जारी की थी। बता दें कि गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई 7 साल के बच्चे की हत्या के बाद स्कूलों की सुरक्षा पर सवाल उठ रहे हैं। स्कूल में बाहरी लोगों की एंट्री बैन हो...
- सर्कुलर में कहा गया है कि सभी स्कूलों में सीसीटीवी कैमरा, स्टाफ का पुलिस वेरिफिकेशन करवाया जाए और स्कूल में बाहरी लोगों की एंट्री पर कंट्रोल किया जाए।
- गुड़गांव मर्डर के बाद दिल्ली के एक स्कूल में 5 साल की बच्ची के साथ रेप का मामला सामने आया था। इसमें आरोपी स्कूल का प्यून था।
क्या है पिटीशन में?
- वकील आभा शर्मा और अन्य महिला वकीलों की पिटीशन में कहा गया है कि रेयान की घटना के बाद से देशभर के पेरेंट्स में डर का माहौल है।
- "बच्चों की सुरक्षा के लिए जो पॉलिसी तैयार की गई है, ज्यादातर स्कूल उसका पालन नहीं करते।"
- "लिहाजा सुप्रीम कोर्ट आदेश जारी करे कि पॉलिसीज सही तरह से पालन हो। इसके अलावा देशभर में बच्चों की सुरक्षा के लिए एडिशनल गाइडलाइंस बनाई जाए।
- पिटीशन में यह भी कहा गया है कि पहले से जो दिशा-निर्देश बनाए गए हैं, अगर कोई स्कूल उनका पालन नहीं करता तो उनका लाइसेंस रद्द किया जाना चाहिए।

   

इकोनॉमी में दिख रहे 7 बदलाव, अगली तिमाही से GDP ग्रोथ बढ़ेगी: एक्सपर्ट्स

नई दिल्ली.अर्थव्यवस्था में जो गिरावट आनी थी वह आ गई, अब इसमें सुधार होगा। औद्योगिक उत्पादन के आंकड़ों में तेजी है। कार बिक्री बढ़ी है, मकान भी बिकने शुरू हो गए हैं। नोटबंदी-जीएसटी का असर खत्म होने के बाद डिमांड बढ़ने लगी है। सरकार ने भी इन्फ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में निवेश बढ़ाया है। मानसून बढ़िया है। ऐसे में अर्थव्यवस्था के लिए दीपावली अच्छी रहेगी। खास बातचीत में नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार ने ये बातें कहीं। बाजार में नकदी के चलते इंटरेस्ट रेट कम हुआ...

- क्रिसिल के मुख्य अर्थशास्त्री डीके जोशी ने भी कहा, ‘महंगाई दर काबू में है, रुपया डॉलर के मुकाबले स्थिर है, राजकोषीय घाटा नियंत्रण में है। बाजार में नकदी है, जिसके कारण ब्याज दरें भी कम हुई हैं। ऐसे में अगली तिमाही से अर्थव्यस्था में सुधार शुरू हो जाएगा।’ क्रिसिल ने इस वर्ष 7% ग्रोथ का अनुमान जताया है।
- एसोचैम के महासचिव डीएस रावत ने कहा कि इन्फ्रास्ट्रक्चर में इन्वेस्टमेंट काफी बढ़ा है। एक्सपोर्ट में भी सुधार है। आंकड़ों पर नजर डालें तो कम से कम सात क्षेत्रों में सकारात्मक बदलाव दिख रहे हैं।
7 अहम बदलाव
1) औद्योगिक उत्पादन में तेजी, कारों की बिक्री बढ़ी और कर्ज भी सस्ते
एक महीने में शेयर मार्केट 1.5% ऊपर
इंडेक्स 14 अगस्त 17 14 सितंबर 17
सेंसेक्स 31,449.03 32,241.93
निफ्टी 9,794.15 10,086.60
2) विदेशी मुद्रा भंडार 400 अरब डॉलर के करीब
- 25 अगस्त तक देश में फॉरेन करंसी 394.55 अरब डॉलर थी जो 1 सितंबर को बढ़कर 398.12 अरब डॉलर हो गई।
3) घरेलू विमान यात्री एक साल में 10 लाख बढ़े
- जुलाई 201685.08 लाख
- जुलाई 201795.65 लाख
(स्रोत : डीजीसीए)
4) जुलाई में 102% बढ़ा औद्योगिक उत्पादन
- जून 2017-0.2%
- जुलाई 20171.2%
5) अगस्त में कारों की बिक्री 12% बढ़ी
- अगस्त 2016 1,77,829
- अगस्त 20171,98,811
(स्रोत : सियाम)
6) टारगेट से 3,700 करोड़ रुपए ज्यादा जीएसटी कलेक्शन
सरकार का अनुमान जुलाई में 91 हजार करोड़ का था, आए 94,700 करोड़ रु.। यह आंकड़ा बढ़ सकता है, क्योंकि बहुत से रजिस्टर्ड कारोबारियों ने अभी रिटर्न फाइल नहीं किया है।

7) साल भर में 1% सस्ता हुआ कर्ज
पिछले एक साल में बैंकों का कर्ज करीब 1% सस्ता हुआ है। सितंबर 2016 में एसबीआई का एमसीएलआर 9.1% था, अब यह 8% है।

   

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1799790

Site Designed by Manmohit Grover