You are here:

PAK में है दाऊद, फोन टैपिंग के डर से रिश्तेदारों से बात नहीं करता: भाई ने बताया

E-mail Print PDF

मुंबई.अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में है और अलग-अलग शहरों में उसके चार से पांच घर हैं। यह खुलासा दाऊद के भाई इकबाल कासकर ने पुलिस को दिए बयान में किया। कासकर को पिछले दिनों ठाणे पुलिस ने जबरन वसूली के आरोप में अरेस्ट किया था। ठाणे पुलिस के एक सीनियर ऑफिसर ने बताया कि कासकर ने पूछताछ में बताया कि दाऊद पाकिस्तान अपने ठिकाने बदलते रहता है। बता दें कि गुरुवार को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे ने दावा किया है कि 1993 बॉम्बे सीरियल ब्लास्ट केस का मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम खुद भारत आना चाहता है। बीजेपी के लोग उसके कॉन्टैक्ट में हैं।फोन टैपिंग के डर से दाऊद रिश्तेदारों से बात करने से कतराता है ...
कासकर ने और क्या खुलासे किए
- कासकर ने पूछताछ में बताया - "फोन टैपिंग के डर से दाऊद इंडिया में रह रहे अपने रिश्तेदारों से बात करने में कतराता है। मैं साल 2003 में दुबई में किसी जगह पर दाऊद से मिला था।"
- इकबाल ने अपने एक और भाई अनीस अहमद से संपर्क में होने की बात को स्वीकार किया है। अनीस ही दाऊद का पूरा कारोबार देखता है। वह भी दाऊद के साथ पाकिस्तान में रहता है।
- इकबाल के मुताबिक, ईद के दिन अनीस ने उसे इंटरनेशनल नंबर से कॉल किया था।
कासकर से क्या सवाल पूछे गए?
- इकबाल से पूछा गया है कि, वह अपने भाई दाऊद से दिन में कितनी बार बात करता ह?, दाऊद और उसके बीच की कड़ी कौन है? और उनके आपस में संपर्क कैसे होता है?
- इतना ही नहीं जांच एजेंसी डी कंपनी के हवाला नेटवर्क को खंगालने में भी जुटी है। वो इस एंगल से भी इकबाल कासकर से पूछताछ कर रही हैं।
जांच में सहयोग नहीं कर रहा इकबाल
- सूत्रों के मुताबिक, इकबाल कासकर जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। वो बार-बार ये बहाना बना रहा है कि उसकी यादाश्त कमजोर है और उसे हाई ब्लड प्रेशर की भी दिक्कत है।
- इस बीच इकबाल कासकर और उसके साथ गिरफ्तार दोनों आरोपियों के खिलाफ एक और एक्सटॉर्शन का मामला दर्ज हो गया है। पीड़ित ठाणे का ही जौहरी है जिससे इकबाल और उसके साथियों ने लाखों की वसूली के अलावा गोल्ड भी वसूला था।
- इकबाल पर पिछले तीन साल के दौरान ठाणे के एक बिल्डर और ज्वेलर से 100 करोड़ रुपए वसूलने का आरोप है। हालांकि, कासकर इन आरोपों से लगातार इनकार करता रहा है। वह किसी भी एक्सटॉरशन रैकेट में शामिल होने की बात से इनकार कर रहा है।
पहले भी गिरफ्तार हो चुका है इकबाल
- इकबाल को 3 फरवरी 2015 को भी मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था। तब उस पर मो. सलीम शेख नाम के रियल एस्टेट एजेंट ने तीन लाख रुपए मांगने और पिटाई करने का आरोप लगाया था। इकबाल को 2003 में दुबई से प्रत्यर्पण (Extradition) करके लाया गया था। आने के बाद उस पर सारा सहारा मामले में केस चला, लेकिन सबूत की कमी की वजह से वह बरी हो गया था।
ऐसा है दाऊद इब्राहिम का परिवार
- दाऊद इब्राहिम के 4 भाई और दो बहने हैं। मुंबई ब्लास्ट के बाद दाऊद अपने दो भाई अनीस और नूरा इब्राहिम दाऊद के साथ पाकिस्तान भाग गया था। 2007 में कराची में हुए एक हमले में नूरा का निधन हो गया था। वहीं, अनीस आज भी दाऊद के पाकिस्तान और यूएई के कारोबार को संभाल रहा है।
- दाऊद इब्राहिम का चौथे नंबर का भाई इकबाल कासकर और उसकी दो बहने हसीना पारकर और सईदा मुंबई में रहते थे। हसीना की हार्टअटैक और सईदा की नदी में डूबने से मौत हो चुकी है। जबकि कासकर आज भी मुंबई में अपनी पत्नी और 3 बच्चों के साथ रह रहा है।
- दाऊद की पत्नी का नाम महजबीन उर्फ जुबीना जरीना है। दाऊद के चार बच्चे है जिनमें एक लड़का और तीन लड़कियां है। दाऊद की सबसे छोटी बेटी की मौत हो चुकी है।
- दाऊद के बेटे का नाम मोइन इब्राहिम, बड़ी बेटी का नाम माहरुख और छोटी बेटी का नाम माहरीन है। दाऊद की बड़ी बेटी माहरुख की शादी पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद के बेटे जुनैद मियांदाद से हुई है।
- दाऊद इब्राहिम के पिता का नाम इब्राहिम कासकर था। वह एक पुलिस कॉन्स्टेबल थे।
दाऊद इब्राहिम भारत आना चाहता है, BJP के लोग उसके कॉन्टैक्ट में: राज ठाकरे
- महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे ने गुरुवार को दावा किया था कि 1993 बॉम्बे सीरियल ब्लास्ट केस का मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम खुद भारत आना चाहता है। बीजेपी के लोग उसके कॉन्टैक्ट में हैं। अगर दाऊद की वापसी होती है तो बीजेपी इसका वोट के लिए इस्तेमाल करेगी। ठाकरे ने यह दावा गुरुवार को अपने फेसबुक पेज की लॉन्चिंग की मौके पर किया। सोशल मीडिया से दूरी रखने वाले राज ने पार्टी को बढ़ाने और युवाओं में पैठ बढ़ाने के लिए फेसबुक पेज लॉन्च किया है। इससे 4 लाख लोग जुड़ चुके हैं।

 

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1802728

Site Designed by Manmohit Grover