You are here:

पूछताछ में हनीप्रीत को हुआ सिरदर्द, 9 घंटे में 4 अफसरों ने पूछे 60 से ज्यादा सवाल

E-mail Print PDF

पंचकूला. पिछले 24 घंटों में पंचकूला पुलिस के चार अफसरों ने बाबा राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत इंसां से 9 घंटों तक पूछताछ की। चार पुलिस अफसरों ने दिन में पांच बार अलग- अलग पूछताछ की। 60 से ज्यादा सवाल पूछे गए, लेकिन किसी भी सवाल का सही जवाब नहीं मिला। हनीप्रीत ने सिरदर्द का बहाना करके चाय और दवा की डिमांड की। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि वह सवालों के जवाब में उलझा रही है। डॉक्टरों की टीम ने उसका मेडिकल किया। बीपी और ईसीजी दोनों नॉर्मल हैं।
पुलिस ने बताया कि सवालों के जवाब में उलझा रही है हनीप्रीत इंसां
- पुलिस कमिश्नर ने बताया कि वह सवालों के जवाब में उलझा रही है। डॉक्टरों की टीम ने उसका मेडिकल किया। बीपी और ईसीजी दोनों नॉर्मल हैं। वहीं, दिल्ली तक हनीप्रीत को पहुंचाने वाले शख्स ने पुलिस को बताया कि उसे हनीप्रीत के मोबाइल के बारे में कुछ पता नहीं है वह सुखदीप कौर के फोन पर आया था।
- बता दें कि पंचकूला कोर्ट ने राम रहीम को रेप केस में 25 अगस्त को दोषी करार दिया था। इसके बाद हनीप्रीत बाबा के साथ पुलिस के हेलिकॉप्टर से रोहतक की सुनारिया जेल पहुंची थी। उसने बाबा के साथ अंदर जाने की जिद की थी, लेकिन पुलिस ने उसे वहां से बाहर भेज दिया था। इसके बाद से हनीप्रीत गायब थी। 39 दिन बाद उसे 3 अक्टूबर को अरेस्ट किया गया था। उसपर दंगा भड़काने और साजिश रचने का आरोप है।
हनीप्रीत इंसां ने पूछताछ में कहा- हां, मेरा प्लान जरूर था, लेकिन...(चुप हो गई)
पुलिस:डेरे के लोगों को पंचकूला बुलाया गया, कितने लोगों को बुलाने का टारगेट था?
हनीप्रीत:हमने तो नीचे वालों को बताया था, यहां केस से बरी होने के बाद सत्संग करने का विचार था। यह प्लान मेरा जरूर था, लेकिन...(चुप हो गई)
पुलिस:कितने लोगों को खुद बताया कि पंचकूला में ये प्लानिंग है?
हनीप्रीत:(पहले चुप रही, फिर बोली) लोगों को तो यहां आना ही था।
पुलिस:कौन से नंबरों का इस्तेमाल किया?
हनीप्रीत:मेरे पास जो नंबर पहले से मौजूद थे वही थे। उसके बाद मेरा फोन खराब हो गया और एक नंबर बंद हो गया।
पुलिस: आदित्य से आखिरी बार कब मिली?
हनीप्रीत : पता नहीं कब मिली थी, कुछ याद नहीं है।
दूसरे सवालों पर जवाब...
सवाल: तुम्हारे दूसरे मोबाइल कहां हैं?
- कौन से दूसरे... वो तो मैंने गिरा दिए, कहां ये तो याद नहीं।
सवाल: तुम्हारे साथ कौन-कौन होते थे दूसरी गाड़ी में?
-कौन-कौन होते थे ये तो पता नहीं, नाम याद नहीं हैं।
सवाल: कौन से मोबाइल नंबरों का इस्तेमाल किया था?
- मेरे पास जो नंबर पहले से मौजूद थे वही थे। उसके बाद मेरा फोन खराब हो गया और एक नंबर बंद हो गया।
सवाल: आदित्य इंसां से आखिरी बार कब मुलाकात हुई?
-तीन-चार मिनट तक चुप हो गई। फिर बोली- पता नहीं कब मिली थी, कुछ याद नहीं है।
आमने-सामने: गवाह राकेश और आरोपी हनीप्रीत इंसां
- हनीप्रीत पुलिस के सवालों का जवाब नहीं दे रही है। पुलिस ने शुक्रवार को दूसरा तरीका अपनाया- उसके सामने ही दो गवाहों सुखदीप और राकेश को बिठाकर सवाल-जवाब किए। हालांकि, इसका भी कोई खास फायदा नहीं हुआ।
पंचकूला दंगा भड़काने की मीटिंग पर सवाल
राकेश- हां, 17 अगस्त को हुई मीटिंग में हनीप्रीत मौजूद थी। समर्थकों को पंचकूला पहुंचने के लिए इसने ही कहा था। लोग पहले डेरा चीफ के काफिले के साथ 28 अगस्त को पंचकूला जाने वाले थे। तब हनीप्रीत ने कहा था कि लेट जाएंगे, तो कैसे मैनेज होगा। इसलिए बड़ी संख्या में समर्थक पहले ही पहुंच गए।
अब तक कहां ले गई पुलिस?
- गुरुवार सुबह पुलिस हनीप्रीत और उसकी साथी सुखदीप को पंचकूला के सेक्टर-23 थाने से निकाल कर सेक्टर-20 ले गई। फिर उन्हें बस से बठिंडा ले जाया गया। पुलिस का कहना है कि फरारी के वक्त हनीप्रीत ने सबसे ज्यादा वक्त बठिंडा के आसपास बिताया था।
- यहां वह सुखदीप कौर के घर पर ही रुकी थी। बता दें कि सुखदीप कौर वही है जिसे हनीप्रीत के साथ मंगलवार को अरेस्ट किया गया था। पुलिस अब उसे सिरसा भी ले जा सकती है।
हनीप्रीत इंसां कितने दिन की पुलिस कस्टडी में है?
-हनीप्रीत को पंचकूला कोर्ट में बुधवार को में पेश किया गया था। सुनवाई के बाद कोर्ट ने उसको 6 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया। पुलिस ने 14 दिन की कस्टडी मांगी थी।
कहां रखा गया है?
-हनीप्रीत इंसां पंचकूला के सेक्टर-23 स्थित चंडीमंदिर पुलिस स्टेशन मेंं रखा गया है। यहांं पुलिस कमिश्नर एएस चावला, क्राइम अगेंस्ट वुमन आईजी ममता सिंह, डीसीपी मनबीर सिंह समेत कई अफसर उससे पूछताछ कर रहे हैं।
बाबा गुरमीत राम रहीम को किस रेप केस में हुई सजा, क्या है पूरा मामला?
- 2002 में एक साध्वी ने गुमनाम चिट्ठी लिखी। इसमें बताया गया था कि कैसे डेरा सच्चा सौदा के अंदर लड़कियों का सेक्शुअल हैरेसमेंट होता था। यह चिट्ठी पंजाब और हरियाणा कोर्ट को भी भेजी गई थी। इसके बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के खिलाफ यौन शोषण का केस शुरू हुआ। सीबीआई ने जांच शुरू की। 15 साल बाद सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी करार दिया।
- माना जाता है कि ये चिट्ठी राम रहीम के 20 साल ड्राइवर रहे रणजीत सिंह की बहन ने लिखी थी। बाद में रणजीत का मर्डर हो गया था। इसका शक भी बाबा समर्थकों पर जताया गया। यह केस भी पंचकुला की सीबीआई कोर्ट में चल रहा है।
- दो साध्वियों के रेप केस में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को CBI की स्पेशल कोर्ट ने 10-10 साल की सजा सुनाई। यानी डेरा चीफ को कुल 20 साल जेल में गुजारने होंगे।
- सजा के खिलाफ डेरा सच्चा सौदा हाईकोर्ट में अपील करेगा। बता दें कि यह रेप केस 15 साल चला था।

 

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1853234

Site Designed by Manmohit Grover