You are here:

नपुंंसक बनाने का केस: CBI के बाबा से 30 सवाल, जवाब एक - मुझे कुछ नहीं पता

E-mail Print PDF

रोहतक. सीबीआई ने यहां सुनारिया जेल में बंद बाबा गुरमीत राम रहीम से डेरे के अनुयायियों को नपुंंसक बनाने के मामले में पूछताछ की। उससे 30 सवाल पूछे गए, लेकिन किसी भी सवाल का जवाब नहीं मिला। गुरमीत ने सीबीआई के हर सवाल पर कहा कि उसे कुछ नहीं पता। सूत्रों के अनुसार, गुरमीत सीबीआई टीम से ही उलटे सवाल करने लगा। कहा कि उसे कानून की पूरी समझ है। पहले सीबीआई टीम उससे पूछताछ करने की इजाजत के कागजात दिखाए। हालांकि, बाद में वह बात करने को राजी हो गया। क्या है नपुंसक बनाने का मामला...
- बाबा पर अपने ही 400 समर्थकों और अनुयायियों को नपुंसक बनाने का केस भी चल रहा है। इनकी जांच सीबीआई कर रही है। 28 अगस्त को पंचकूला में दंगा भड़काने के आरोप में कई डेरा समर्थकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इनमें से चार समर्थक मेडिकल रिपोर्ट में नपुंसक पाए गए हैं।
सीबीआई ने क्या पूछा?
- सीबीआई ने पूछा- आखिर डेरामुखी का ऐसा क्या असर था कि समर्थक नपुंसक बनने को तैयार हो गए?
- सीबीआई के सूत्रों ने DainikBhaskar.com को बताया- "सीबीआई ने मंगलवार को जेल जाकर डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह से पहला सवाल किया कि कितने लोगों को नपुंसक बनाया। डेरामुखी ने जवाब नहीं दिया। फिर पूछा - जिन लोगों को नपुंसक बनाया, उन्हें इसके लिए कैसे मजबूर किया? किस तरह के प्रभाव में साधक नपुंसक बनने को राजी हुए? कितने लोग हैं, जिन्हें नपुंसक बनाया गया? डेरे के और किन लोगों ने साधकों को ऐसा करने के लिए मनाया? इन सवालों पर डेरामुखी ने सीबीआई टीम से सिर्फ इतना कहा कि उसे कुछ नहीं पता।
बाबा डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के सेवादार ने बताया था: मैं गुफा के पास होता था, इसलिए नपुंसक बनाया
- कुछ दिन पहले डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के बेहद करीबी रहे अनुयायी ने कबूला था कि डेरामुखी ने ही उसे नपुंसक बनाया। ऐसा सिर्फ इसलिए किया क्योंकि वह सिरसा डेरे में गुफा के आसपास ही रहता था। गुफा में ही सारे अनैतिक और गलत काम होते थे।
बाबा गुरमीत राम रहीम को किस रेप केस में हुई सजा, क्या है पूरा मामला?
- 2002 में एक साध्वी ने गुमनाम चिट्ठी लिखी। इसमें बताया गया था कि कैसे डेरा सच्चा सौदा के अंदर लड़कियों का सेक्शुअल हैरेसमेंट होता था। यह चिट्ठी पंजाब और हरियाणा कोर्ट को भी भेजी गई थी। इसके बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के खिलाफ यौन शोषण का केस शुरू हुआ। सीबीआई ने जांच शुरू की। 15 साल बाद सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी करार दिया।
- माना जाता है कि ये चिट्ठी राम रहीम के 20 साल ड्राइवर रहे रणजीत सिंह की बहन ने लिखी थी। बाद में रणजीत का मर्डर हो गया था। इसका शक भी बाबा समर्थकों पर जताया गया। यह केस भी पंचकूला की सीबीआई कोर्ट में चल रहा है।
- दो साध्वियों के रेप केस में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को CBI की स्पेशल कोर्ट ने 10-10 साल की सजा सुनाई। यानी डेरा चीफ को कुल 20 साल जेल में गुजारने होंगे। सजा के खिलाफ डेरा सच्चा सौदा ने हाईकोर्ट में अपील की। यह रेप केस 15 साल चला था।

 

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1824021

Site Designed by Manmohit Grover