You are here:

राम रहीम के सपोर्ट में गए लोग अब तक नहीं पहुंचे घर, कई पुलिस की गिरफ्त में

श्रीगंगानगर.डेरामुखी के समर्थन में जिले से हजारों डेराप्रेमी पंचकूला गए थे। डेरामुखी को दोषी करार दिए जाने के बाद हुए दंगों में श्रीगंगानगर जिले के भी अनेक जनों को दोषी मान पंचकूला पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मुकदमे दर्ज कर इन्हें गिरफ्तार किया है। उधर, अब तक अनेक डेराप्रेमी घर नहीं पहुंचे हैं। उनके परिजन आशंकित हैं, लेकिन पुलिस से पता कर रहे हैं। रावला, रिड़मलसर के साजनवाला और श्रीकरणपुर के माझीवाला सहित कई गांवों के 12 से अधिक लोग अब तक पंचकूला में पुलिस की गिरफ्त में हैं। 70 से ज्यादा लोग लापता हैं। पुलिस पकड़े गए लोगों के घर पर सूचना भेज रही है। लौटकर आए डेरा समर्थकों पर भी कार्रवाई...
- श्रीकरणपुर में डेरामुखी के समर्थन में पंचकूला गए हजारों लोगों में से एक महिला सहित दस जने अभी भी अपने घर नहीं पहुंचे हैं। इन सभी पर 25 अगस्त को पंचकुला में हुए उपद्रव मामले में विभिन्न थानों में मुकदमे दर्ज हुए हैं। वहीं, स्थानीय पुलिस ने भी शांतिभंग की अाशंका और पंचकुला से वापिस लौटकर आए लगभग 34 डेरा समर्थकों पर कार्रवाई की है।
- पुलिस के मुताबिक, रविंद्र कौर पत्नी बलकारसिंह रायसिख, संदीप कुमार पुत्र बलकारसिंह रायसिख, रामसिंह पुत्र रणजीतसिंह रायसिख, शमशेरसिंह पुत्र बलबीरसिंह रायसिख, जसवीरसिंह पुत्र सुरजीतसिंह रायसिख निवासी 14 एस माझीवाला, सुखविंद्रसिंह पुत्र राजिंद्र सिंह बावरी निवासी 16 एस, मलकीतसिंह पुत्र वचित्रसिंह बावरी 9 एफ ए माझीवाला, सुरेंद्र पुत्र जगतारसिंह अरोड़ा निवासी 13 एफएफ माणकसर, गुरमेलसिंह पुत्र सुरजीतसिंह निवासी वार्ड 4 श्रीकरणपुर और जसपाल पुत्र मोहनलाल कुम्हार निवासी 49 जीजी कुरेशिया को पंचकूला में अलग-अलग धाराओं में गिरफ्तार किया गया है।
डेरामुखी पर कथित टिप्पणी के बाद हुआ झगड़ा
- डेरामुखी पर कथित टिप्पणी करने पर रावला के सीमावर्ती 4 केएलएम गांव में बुधवार को दो युवक भिड़ पड़े। पुलिस ने दोनों को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार किया। शाम को उपतहसीलदार के समक्ष पेश किया जहां जमानत पर दोनों को छोड़ दिया।
- सीआई करणसिंह राठौड़ ने बताया कि डेरामुखी पर टिप्पणी करने की बात को लेकर 4 केएलएम निवासी गोपीराम पुत्र जेठाराम नायक व 4 डीओएल निवासी सुखपाल पुत्र मक्खनसिंह कुम्हार के बीच तकरार होने के बाद गांव में तनाव हो गया था। सूचना मिलने पर मौके पर एसआई लियाकत अली को भेजा गया।

   

रात को टॉयलेट करने उठे लड़के ने देखा, फंदे पर लटके थे मां-पिता और भाई-बहन

जोधपुर. पत्नी की बीमारी और आर्थिक तंगी से परेशान इस्कॉन मंदिर के ड्राइवर करणाराम पटेल (45) ने अपने बेटे-बेटी और पत्नी को जहर पिला फंदे पर लटका दिया। फिर खुद भी फांसी लगा आत्महत्या कर ली। उसने पास में ही सो रहे अपने बड़े बेटे को छोड़ दिया, ताकि वंश बचा रहे। वह रात 3 बजे टॉयलेट के लिए उठा, तब उसने सबको लटका हुआ पाया। सदमे के कारण वह उजाला होने तक शवों के पास ही बैठा रहा, फिर सुबह 7:30 बजे उसने मंदिर में जाकर सूचना दी। रात खाना खिलाने के बाद उठाया ये कदम...
- बासनी पुलिस थाना सीआई राजेश यादव के अनुसार लूणी भाकरी निवासी और हाल में तनावड़ा फांटा के पास इस्कॉन मंंदिर के बाहर कच्चे मकान में रहने वाला करणाराम इस्कॉन मंदिर में ही ड्राइवर था। उसकी पत्नी पुष्पा (40) की बीमारी और आर्थिक तंगी से वह परेशान रहता था। बुधवार रात खाना खिलाने के बाद बेटी उर्मिला (8) व छोटे बेटे सुरेश (6) को जहर पिला दिया।
- जब वे सो गए तो कमरे में लगे लोहे के सरिए से उन्हें फंदे पर लटका दिया। फिर पत्नी पुष्पा को जहर दिया और खुद ने भी पीया। इसके बाद दोनों फंदे पर लटक गए। इस दौरान उनका बड़ा बेटा विक्रम (12) गहरी नींद में था, इसलिए उसे कुछ पता नहीं चला।
- गुरुवार सुबह विक्रम की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंच शवों को नीचे उतार एम्स मोर्चरी से पोस्टमार्टम करवाया। वारदात को रात 10 से 12 बजे के बीच अंजाम देना बताया जा रहा है।
अंधेरा होने के कारण वह सहम गया लड़का
- करणाराम का बड़ा बेटा विक्रम चौथी क्लास में पढ़ता है। भास्कर से बातचीत में उसने बताया कि जब वह रात 3 बजे लघुशंका करने उठा तो उसके सामने उसके छोटे भाई-बहन और माता-पिता फंदे पर लटके हुए थे।
- अंधेरा होने के कारण वह सहम गया। कमरे से बाहर निकलने की भी हिम्मत नहीं जुटा सका। रातभर शवों के पास बैठा रोता रहा। कभी अपने पापा तो कभी मम्मी को आवाज देकर पुकारता रहा।
- सुबह करीब 7:30 बजे वह दौड़ता हुआ इस्कॉन मंदिर के इंचार्ज सुंदरलाल दास के पास गया और घटना बताई। उन्होंने पुलिस को बुलाया। विक्रम ने बताया कि उसके पिता हमेशा कहते थे कि वह पढ़-लिखकर बड़ा आदमी बने और उनके वंश का नाम रोशन करे।
लोहे की एंगल पर लटके मिले चारों शव
करणाराम जिस कमरे में रहता था वह इस्कॉन मंदिर से कुछ दूर सूनसान स्थान पर था। छोटे बेटे-बेटी को जहर देने के बाद वह पत्नी-बच्चों के साथ लोहे के इस एंगल पर लटक गया। नीचे एक खाट पर बड़ा बेटा विक्रम सो रहा था।
लेन-देन को लेकर विवाद की आशंका
करणाराम का अक्सर मोबाइल पर किसी शख्स से झगड़ा होता था। संदेह है कि किसी से लेनदेन का विवाद हो सकता है। इस्कॉन मंदिर के इंचार्ज सुंदरलाल दास का कहना था कि करणाराम सज्जन और सेवाभावी व्यक्ति था। उसका किसी से कोई लड़ाई-झगड़ा नहीं था।
मोबाइल टूटा और सिम गायब मिली
मौके पर एफएसएल टीम को एक टूटा हुआ मोबाइल मिला। उसे तोड़ने के साथ ही उस पर पीला रंग डाला हुआ था। इसमें सिम नहीं मिली। बच्चों को हुई उल्टियों से भरी चद्दर भी मिली है।

   

डेरा सच्चा सौदा फोर्स को ट्रेनिंग वेलफेयर की, साजिश दहशत फैलाने की

श्रीगंगानगर.डेरामुखी विवाद की चलते श्रीगंगानगर में दहशत फैलाने वालों को पकड़ने के बाद नए खुलासे हो रहे हैं। इनमें से एक अनुयायी तो ऐसा है जो डेरा सच्चा सौदा की ग्रीन वैलफेयर फोर्स से जुड़ा है। ग्रीन फोर्स का गठन आपदा प्रबंध जैसे बाढ़, भूकंप, अतिवृष्टि व आगजनी के बाद तुरंत मदद पहुंचाना के उद्देश्य से किया गया था। श्रीगंगानगर शहर में बीते दिनों की गई आगजनी की घटना को अंजाम देने का मास्टरमाइंड इसी फोर्स का सदस्य रहा है। डेरा समर्थकों की बैठक में तय हुआ ये सब...
- पुलिस जांच में सामने आया कि लालचंद की ढाणी में रहने वाले विक्रम खुंगर इंसां पुत्र सोहनलाल, संजय उर्फ अजय जग्गा और वेदपाल के घरों पर चुनिंदा डेरा समर्थकों की बैठकें बुलाई गई थी। यहां तय हुआ कि यदि फैसला डेरा प्रमुख के खिलाफ आया, तो केन्द्रीय बस अड्डा परिसर, बीएसएनएल एक्सचेंज, चहल चौक बिजलीघर सहित कई जगहों पर पेट्रोल बम फेंके जाएंगे। सीओ सिटी तुलसीदास पुरोहित का कहना है कि विक्रम खुंगर लंबे समय से फोर्से जुड़ा रहा है।
- वहीं ब्लॉक भंगीदास राजकुमार, दर्शनसिंह रामगढिय़ा को कोर्ट में पेश कर तीन दिन का और पुलिस रिमांड मिला है। पूर्व में गिरफ्तार पांच डेरा अनुयायियों वेदपाल, संजय जग्गा, जतिन उर्फ जयप्रकाश, जसवीर सिंह उर्फ जस्सी और दीपक उर्फ बंटी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।
- वारदात में शामिल रहे आरोपियों में से अभी तक 9 जने गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इनमेें विक्रम खुंगर को गुरुवार ही जवाहरनगर पुलिस ने सहायक अभियंता कार्यालय में आगजनी मामले में गिरफ्तार किया है, उसे शुक्रवार कोर्ट में पेश किया जाएगा।
आगजनी का आरोपी एक और डेरा प्रेमी गिरफ्तार, ग्रीन फोर्स से जुड़ा था
मामले में पकड़े गए आरोपियों ने कबूल किया है कि विक्रम खुंगर ने ही उन्हें एकत्रित किया। बीएसएनएल एक्सचेंज व केन्द्रीय बस स्टैंड आदि पर कड़ी पुलिस सुरक्षा की वजह से वहां नहीं गए। चहल चौक, आजाद टाकिज के पास बिजली बोर्ड दफ्तर और लेबर कोर्ट में आगजनी की घटना को अंजाम दिया। राजकुमार ब्लॉक भंगीदास है, लेकिन इन वारदातों में मुख्य भूमिका विक्रम खुंगर की ही सामने आ रही है।

   

बिहार में पकड़ा गया सरहद पार से नकली नोट की खेप मंगवाने वाला मास्टरमाइंड

अजमेर. अजमेर सहित देश के कई शहरों में नकली करेंसी खपा चुके गिरोह के मास्टरमाइंड पीर मोहम्मद को बिहार में पूर्णिया पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। एसपी राजेंद्र सिंह ने आरोपी को प्रोडक्शन वारंट से गिरफ्तार कर अजमेर लाने की कार्रवाई शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि 16 अगस्त को केसरगंज चौकी प्रभारी एएसआई राजाराम की सजगता से नकली नोट का कारोबार करने वाले अंतरराज्यीय गैंग के चार शातिरों को गिरफ्तार किया गया था। इनके पास से 84 हजार रुपए के नकली नोट बरामद हुए थे।
- नोट बंदी के बाद जारी दो-दो हजार रुपए की नई करेंसी के बारे में आरबीआई ने यह दावा किया था कि करेंसी की नकल संभव नहीं है, लेकिन अजमेर में आरोपियों से बरामद नकली नोट हूबहू असली की तरह पाए गए।
- इस घटना से आरबीआई और देश की अन्य सुरक्षा एजेंसियां भी सतर्क हो गई हैं। तफ्तीश में खुलासा हुआ था कि ये नकली नोट सरहद पार यानी पाकिस्तान और बांग्लादेश से लाए गए है। गिरफ्तार आरोपी मोहम्मद जसीम अंसारी, मोहम्मद आफताब आलम, मोहम्मद सौहेल आलम और समरज आलम बिहारी गंज, बिहार के निवासी हैं।
नकली नोटों का बड़ा डीलर पीर मोहम्मद
- एएसआई राजाराम को मिली मुखबिर की सूचना पर पुलिस गिरफ्त में फंसे नकली नोट के सौदागर मोहम्मद यासीन अंसारी पुत्र मोहम्मद नईम अंसारी ने तफ्तीश में खुलासा किया था कि पाकिस्तान और बांग्लादेश से नेपाल और पश्चिम बंगाल के रास्ते भारत में नकली नोटों की खेप पहुंच रही है।
- बिहार मधेपुरा में नकली नोटों का मुख्य डीलर उसका ससुर पीर मोहम्मद है। पीर मोहम्मद ने नकली नोट देश के विभिन्न शहरों में खपाने के लिए एजेंट बना लिए हैं। एजेंटों को नकली नोट चलाने के एवज में 50 फीसदी राशि दी जाती है, जबकि एजेंटों ने अपने स्तर पर नकली नोट चलाने वालों को वेतन पर भर्ती कर लिया है।
- अारोपियों के बयान के आधार पर पुलिस मास्टरमाइंड पीर मोहम्मद की तलाश कर रही थी। एसपी राजेन्द्र सिंह के मुताबिक बिहार के पूर्णिया जिला पुलिस से सूचना मिली है कि नकली करेंसी गिरोह का मास्टर माइंड पीर मोहम्मद पकड़ा गया है और कोर्ट के आदेश से पूर्णिया जेल में है। एसपी ने सूचना के आधार पर पुलिस दल को बिहार से आरोपी को प्रोडक्शन वारंट से गिरफ्तार कर अजमेर लाने के आदेश दिए हैं।
तीन साल पहले भी पीर मोहम्मद गिरोह ने अजमेर में चलाए थे नकली नोट
- एसपी के अनुसार तीन साल पहले नकली करेंसी के मामले में आरोपी पीर मोहम्मद वांछित था। 16 अगस्त को पकड़े गए आरोपियों के बयान के आधार पर वह ताजा मामले में भी आरोपी माना गया है। पीर मोहम्मद की गिरफ्तारी के बाद नकली करेंसी गिरोह के देश भर में नेटवर्क का खुलासा होगा।
- गौरतलब यह है कि नोटबंदी के बाद अजमेर में पहली बार प्रिंटिंग मशीन से छपे दो हजार के नकली नोट की खेप पकड़ी गई है। कार्रवाई करने वाले एएसआई केसरगंज चौकी प्रभारी राजाराम ने पूर्व में भी स्कैनर और फोटो कॉपी मशीन के जरिए नकली नोट बनाकर बाजार में चलाने वाले स्थानीय गिरोह को पकड़ा था। यह गिरोह भी पांच साल से पचास और सौ रुपए के नोट की कलर फोटो कॉपी कर बाजार में चला रहा था।

   

हरियाणवी डांसर सपना चौधरी ने राजस्थान में लगाए पंजाबी ठुमके

अजमेर.  हरियाणा की मशहूर डांसर सपना चौधरी के पंजाबी एलबम के कुछ सीन बुधवार को मार्बल एरिया के डंपिंग यार्ड पर फिल्माए गए। दिनभर चली शूटिंग देखने के लिए भारी तादाद में लोगों की भीड़ जमा हो गई। सपना का ये पहला पंजाबी एलबम है। सपना चौधरी का सुनते ही भागते-दौड़ते पहुंचे लोग...
 - जानकारी के मुताबिक, सुबह 10 बजे से मार्बल एरिया के डंपिंग यार्ड में पंजाबी एलबम की शूटिंग शुरू हुई। शूटिंग का मेन अट्रेक्शन डांसर सपना चौधरी थीं। पंजाबी एलबम ‘कि दिल दा हाल सुनावा’ के लिए सफेद हाफ बाजू के कपड़े और काला चश्मा लगाकर सपना पंजाबी सिंगर केडी सिंह के साथ डांस करती नजर आईं।
- एलबम यूनिट ने दो कैमरों से पूरे गाने का कईं सीन फिल्माए। डंपिंग यार्ड की लोकेशन को गाने के जरिए स्वीट्जरलैंड की सफेद बर्फीली वादियां दिखाने कोशिश की गई।
- शूटिंग का पता चलते ही लोगों की भीड़ जमा हो गई। मार्बल एरिया के मजदूर मशहूर डांसर सपना चौधरी का नाम सुनते ही भागते-दौड़ते डंपिंग यार्ड पर पहुंचते नजर आए। हालांकि, शूटिंग लोकेशन पर बाउंसर और सिक्युरिटी गार्ड्स ने लोगों को दूर ही रोक दिया था।
- प्रोड्यूसर उशानराज ने बताया कि पंजाबी एलबम ‘कि दिल दा हाल सुनावा’ में सिर्फ एक ही सोलो सॉन्ग है। इसकी एक्ट्रेस सपना चौधरी हैं। जबकि, मेल सिंगर केडी सिंह है। पूरे गाने की शूटिंग एक होटल और डंपिंग यार्ड पर फिल्माई गई।
 पंजाबी सॉन्ग करने पर खुशी
- इस दौरान भास्कर से खास बातचीत में सपना चौधरी ने कहा कि ये उनका पहला पंजाबी एलबम है। इसके अलावा वह देशभर में जगह-जगह डांस शो कर चुकी है। सबसे ज्यादा उनके फैन्स हरियाणा में है। पहली बार पंजाबी सॉन्ग करने पर उन्हें बहुत खुशी हो रही है।
-  डंपिंग यार्ड की लोकेशन पर उन्होंने कहा कि किशनगढ़ में इस तरह की लोकेशन जैसे बर्फीले इलाके की लग रही है। खूबसूरत लोकेशन के कारण ये खूबसूरत लग रही है।
- सपना ने कहा कि सोशल मीडिया पर फेक न्यूज चलती है, इनपर यकीन ना करें।

   

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1799780

Site Designed by Manmohit Grover