You are here:

जेल में रास आई राम रहीम को दाल-रोटी, 43 दिन में घट गया 6 किलो वजन

पानीपत। गुरमीत राम रहीम 25 अगस्त को साध्वी यौन शोषण मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद से रोहतक की सुनारियां जेल में बंद है। उन्हें जेल में अब 43 दिन बीत चुके हैं। सूत्रों के हवाले से जानकारी है कि राम रहीम को अब जेल की दाल-रोटी रास आने लगी हैं। लेकिन जेल में रहते हुए उनका वजन जरूर घट गया है। वे जब जेल गए तो उनका वजन 90 किलोग्राम था जो अब लगभग 84 किलो हो गया है। शुरुआत में कम रोटियां खाता था राम रहीम...
- जेल में जाने के बाद शुुरुआती दिनों में गुरमीत राम रहीम रोटियां कम खा रहा था जबकि कैंटीन से फ्रूट व अन्य चीजों की डिमांड करता था।
- अब जैसे-जैसे समय बीत रहा है उसने जेल की रोटियां खानी शुरू कर दी हैं।
जेल में जाते ही अकाउंट में डले थे 18 हजार, फिर मां ने जमा करवाए थे 5 हजार
- गुरमीत राम रहीम जिस दिन जेल गए थे उसी दिन उनके जेल अकाउंट में 18 हजार रुपए डलवाए गए थे।
- इसके बाद उनकी मां नसीब कौर जेल में मिलने गई थी। उन्होंने उनके जेल अकाउंट में 5 हजार रुपए डलवाए थे।
शुगर और बीपी की दवाइयां अभी भी चल रही
- गुरमीत राम रहीम की बीपी और शुगर की दवाइयां अभी भी चल रही हैं। उसे एम्स के डॉक्टरों के पैनल द्वारा तय की गई दवाइयां दी जा रही हैं।
- उनका लगातार चेकअप भी किया जा रहा है।
मिल गई हनीप्रीत की गिरफ्तारी की सूचना
-राम रहीम को हनीप्रीत की गिरफ्तारी की खबर मिल चुकी है। उसके वकील रहे एसके गर्ग ने हनीप्रीत की गिरफ्तारी की जानकारी उसे दी।
- वे हनीप्रीत की गिरफ्तारी के अगले दिन गुरमीत राम रहीम से मिलने के लिए सुनारियां जेल पहुंचे थे। जहां उन्होंने राम रहीम को यह सूचना दी।

   

9 साल की बच्ची से 17 साल के ट्यूटर ने दोस्त के साथ मिलकर किया रेप

अम्बाला| 9 साल की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बच्ची को ट्यूशन पढ़ाने वाले किशोर ने एक साथी के साथ मिलकर घिनौनी करतूत को अंजाम दिया। 3 दिन पहले हुई घटना का खुलासा शुक्रवार को हुआ। पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर आरोपी किशोरों की तलाश शुरू कर दी है। पीड़ित बच्ची गांव के सरकारी स्कूल की चौथी कक्षा में पढ़ती है। गांव के ही 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले 17 वर्षीय किशोर के पास वह ट्यूशन पढ़ती है। 9वीं का एक 14 वर्षीय छात्र भी वहां पढ़ने आता है। 3 अक्टूबर को इन दोनों ने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी। डरी-सहमी घर पहुंची बच्ची ने किसी को कुछ नहीं बताया। अगले दिन परिजनों ने बच्ची को सहमे देखा तो उससे बात की। तब बच्ची ने मां से दर्द की शिकायत की।
5अक्टूबर को परिजन उसे माजरी पीएचसी लेकर पहुंचे। लेकिन उस दिन अवकाश होने के कारण वापस लौट गए। शुक्रवार को वे दोबारा चेकअप कराने पीएचसी पहुंचे। जहां डॉक्टर के पूछने पर बच्ची ने सारी बात बता दी। इसके बाद पुलिस बाल संरक्षण अधिकार आयोग को सूचना दी गई। बाद में बच्ची को काउंसिलिंग के लिए सिटी अस्पताल ले जाया गया। इसमें पता चला कि ट्यूशन पढ़ाने वाले किशोर ने एक अन्य किशोर के साथ मिलकर मासूम के साथ दुष्कर्म किया है। सुबह करीब 11 बजे सूचना देने के बावजूद शाम सात बजे तक महिला पुलिस बच्ची के बयान लेने नहीं पहुंची थी।

   

35 घंटे बाद पकड़ा गया मारुति प्लांट में घुसा तेंदुआ, 2 किलो मांस रखा था पिंजरे में

गुड़गांव। मारुति के मानेसर प्लांट में गुरुवार सुबह घुसा तेंदुआ 35 घंटे बाद शुक्रवार दोपहर करीब 2 बजे पकड़ लिया गया। इंजन डिपार्टमेंट में घुसे इस तेंदुए को पिंजरे में 2 किलो कच्चा मांस लगाकर पकड़ गया। उसे इंजेक्शन से बेहोश किया गया है। इस डिपार्टमेंट को कल से ही बंद रखा गया था। बाकी यूनिट शुक्रवार चला दी गई थी। वाइल्ड लाइफ डिपार्टमेंट, वेटनरी डिपार्टमेंट व पुलिस विभाग इस पकड़ने में लगा हुआ था। पंचकूला से एक विशेष टीम तेंदुए को पकड़ने के लिए आई हुई थी। तेंदुए को पकड़ने के लिए पहले बकरी के दो मैमने लाए गए थे...
- तेंदुए को पकड़ने के लिए गुरुवार को पहले लालच देने के लिए बकरी के दो मैमने लाए गए थे।
- इसके बाद भी वह पकड़ में नहीं आया। शुक्रवार को पिंजरे में दो किलो कच्चा मांस लगाया गया। इसके बाद उसे पकड़ा जा सका।
- इंजन डिपार्टमेंट को बंद किया गया था, लेकिन पुराने स्टॉक से कंपनी में काम चालू रखा गया।
सीसीटीवी में शुक्रवार सुबह 3.15 बजे दिखाई दिया तेंदुआ
- कृष्ण कुमार ने बताया कि शुक्रवार को जब सीसीटीवी देखा तो सुबह 3.15 बजे तेंदुआ दिखाई दिया था। इसके बाद रेस्क्यू टीम ने अंदर का मुआयना किया, लेकिन वह नहीं मिला।
- उन्होंने फिर पिंजरे में मांस रखा गया, ताकि भूख लगी होने के कारण वह पिंजरे में आए और उसे पकड़ लिया जाए।
1200 गाड़ियों का प्रोडक्शन रहा प्रभावित
- मारुति कंपनी के प्रवक्ता अंकित ने बताया कि गुरुवार सुबह की पाली के लिए करीब 7 बजे आने वाले कर्मचारियों को सुरक्षा कारणों से चलते प्लांट से बाहर रखा गया। एक शिफ्ट में करीब 1200 गाड़ियां तैयार होती हैं। ऐसे में तेंदुए के घुसने से ये गाड़ियां तैयार नहीं हो सकीं।
- करीब 86 करोड़ रुपए का काम प्रभावित हुआ। गुरुवार दोपहर बाद बी शिफ्ट में काम चालू किया या, लेकिन इंजन डिपार्टमेंट को सील कर दिया गया। दोपहर 3.15 बजे बी शिफ्ट में दूसरे डिपार्टमेंट में काम शुरू किया गया। इसके अलावा टू-व्हीलर का प्रोडक्शन भी चालू किया गया। अंकित ने बताया कि ऐसे में प्रोडक्शन का नुकसान और भी बढ़ सकता है।

   

लाखों रुपए है इस स्कूल की फीस, स्वीपर ने की 9 साल की बच्ची से रेप की कोशिश

पानीपत। यहां के ‘द मिलेनियम’ स्कूल में 9 साल की बच्ची से रेप की कोशिश का आरोपी स्वीपर (22) साल का तरुण निकला। जिसे घटना के 38 घंटे बाद गुरुवार देर रात गिरफ्तार कर लिया गया। स्कूल में हुई इस घटना के बाद से पैरेंट्स अपने बच्चों की सुरक्षा के लिए चिंतित हैं। बता दें कि इस स्कूल की फीस 1.26 लाख रुपए सालाना है।क्या है पूरा मामला...
- मिलेनियम स्कूल श्री राधारमण एजुकेशन ट्रस्ट संचालित करता है। इसके चेयरमैन गुड़गांव के शांतनु प्रकाश हैं।
- ये आईआईएम अहमदाबाद से पास आउट हैं और ऑनलाइन स्मार्ट क्लास एडुकॉम सॉल्यूशन लिमिटेड चलाते हैं।
- इंदौर, जयपुर, सूरत, मेरठ, पटना समेत सात राज्यों के 19 शहरों में स्कूल की शाखाएं हैं। 10 और खोलने की तैयारी है।
- हरियाणा में पानीपत, करनाल और कुरुक्षेत्र में इसकी शाखाएं हैं। पानीपत में यह 2009 में खुला। तब 234 बच्चे पढ़ते थे, अब 1050 हैं।
- यह शहर के सबसे पॉश इलाके अंसल सुशांत सिटी में बना है। कैंपस 4.7 एकड़ में फैला है। यहां 12वीं तक की पढ़ाई होती है।
- तीन एकड़ में बना स्कूल भवन चार मंजिला है। ऊपर की दो मंजिलें खाली हैं। पहली से पांचवीं तक की पढ़ाई पहली मंजिल पर होती है, बाकी नीचे। क्लास 5 तक सालाना फीस 1.15 लाख और 11वीं-12वीं की 1.26 लाख है।
स्कूल से लौटने पर बच्ची ने मां को बताई थी आपबीती
- बुधवार सुबह 7:40 बजे पिता 9 साल बेटी को स्कूल में छोड़कर गए थे। इसके बाद बाथरूम में उसके साथ युवक ने रेप की कोशिश की।
- स्कूल मैनेजमेंट ने पिता को फोन करके बच्ची के रोने की बात कही। 9:30 बजे पिता उसको घर ले गए। शाम तक मां उससे दुलार करती रही।
- शाम को उसने मां को ही बताया कि बाथरूम में अंकल ने उसके साथ गंदी हरकत की। उसकी कमर व कंधे पर निशान भी हैं।
बाथरूम की सफाई करने गया था आरोपी
- आरोपी तरुण कुटानी रोड पर राकेश नगर का रहने वाला है। लंबे समय से स्कूल में काम कर रहा था। उसने बताया कि वह बुधवार को बाथरूम की सफाई करने के लिए गया था।
- जेंटस बाथरूम की सफाई कर रहा था, तभी बच्ची बाथरूम में जाते हुए दिखाई दी। इस पर वह उसके पीछे पानी लेने के बहाने डिब्बा लेकर बाथरूम में घुस गया। वहां रेप का प्रयास किया।

   

सरकार बनने पर डेरे में दिए दान का मंत्रियों से वसूलेंगे पैसा : अभय

चंडीगढ़.मुख्य विपक्षी दल इनेलो के नेता अभय चौटाला और स्वास्थ्य मंत्री डेरे में दान दी राशि को लेकर आमने-सामने आ गए हैं। अभय का कहना है कि भाजपा नेताओं ने वोट बैंक के चक्कर में डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को लाखों रुपए दान में दिए। इस राशि की भरपाई सरकार को मंत्रियों से करनी चाहिए। यदि ऐसा न हुआ तो इनेलो की सरकार बनने पर एक-एक पैसे की वसूली भाजपा नेताओं से की जाएगी। इस पर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने चुटकी लेते हुए जवाब दिया कि ‘न नौ मन तेल होगा और न राधा नाचेगी’।
विज ने कहा कि ऐसा कोई कानून ही नहीं है तो चौटाला गुंडागर्दी से राशि वसूलेंगे। अभय ने डेरा मामले से निपटने में सरकार को पूरी तरह फेल बताया। इसके अलावा अभय ने राज्य की भाजपा सरकार पर भ्रष्टाचार गंभीर आरोप लगाए। अभय ने भ्रष्टाचार की जांच के लिए लोकायुक्त का दरवाजा खटखटाने का फैसला लिया है। अभय गुरुवार को पत्रकारों से बात कर रहे थे।
इंटरलॉकिंग टाइल्स खरीद में बराला समेत विधायक खा रहे कमीशन: अभय
विपक्ष के नेता अभय चौटाला ने आरोप लगाया कि पंचायत एवं विकास विभाग के माध्यम से गांवों में इन दिनों बिना मांग के पुरानी गलियों को उखाड़कर नई इंटरलॉकिंग टाइल्स लगाई जा रही हैं। कई जगह बैठने की बैंचें भी लग रही हैं। इनमें भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला समेत तमाम विधायक कांग्रेस राज में लगी इंटरलॉकिंग टाइल्स बनाने वाली फैक्ट्रियों के मालिकों से कमीशन खा रहे हैं। एक इंटरलॉकिंग टाइल्स की लागत 7 से 7.25 रुपए आती है। जबकि पंचायतों में यह 13 से 14 रुपए में और 1900 से 2200 रुपए लागत वाली बैंच 4800 से 5300 रुपए में खरीदी जा रही है। यह ऐसा भ्रष्टाचार है, जिसमें किसी जांच की जरूरत भी नहीं है। अभय ने कहा कि माइनिंग मामले में सीएम खट्टर ने एक मंत्री की कंपनी के आवेदन पर सीधे ही माइनिंग लीज जारी करने के आदेश कर दिए। इसमें सुप्रीम कोर्ट ने भी प्रतिकूल टिप्पणी की है। इसी तरह उनके निर्वाचन क्षेत्र ऐलनाबाद में भाजपा के प्रत्याशी रहे चेयरमैन की शह पर उनके नजदीकी लोग ही नशे के कारोबार में लिप्त हैं। एसपी को उन्होंने खुद नाम दिए, लेकिन पुलिस कार्रवाई करने को तैयार नहीं है।
कांग्रेस सरकार के गड्ढे हुए और गहरे
मुख्यमंत्री मनोहर लाल पिछले 3 साल से कांग्रेस शासन के गड्ढे भरने की बात कर रहे हैं, लेकिन उनके राज में यह गड्ढे भरने के बजाय और गहरे हो गए हैं। इनेलो का आरोप है कि गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिकों और कौशल्या डैम मामले में असली दोषी पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा को मौजूदा सरकार बचा रही है।
सबूत हैं तो जनता के सामने लाएं : बराला
इधर, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला का कहना है कि विपक्ष के नेता अभय चौटाला इन दिनों काफी बौखलाए हुए हैं। आधारहीन और बेबुनियाद आरोपों से उनकी यह बौखलाहट साफ झलकती है। अगर उनके पास करप्शन के संबंध में कोई तथ्य हैं तो जनता के सामने लाएं। जहां तक उनके लोकायुक्त के यहां जाने की बात है तो उसका स्वागत है। सच्चाई लोगों के सामने आनी ही चाहिए। भाजपा सरकार प्रदेश में तेजी के साथ विकास कर रही है और आगे भी करती रहेगी।

   

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1853222

Site Designed by Manmohit Grover