You are here:

पंचकूला में बदले हालात का LIVE अपडेट, सड़क पर कट रही समर्थकों की जिंदगी

चंडीगढ़. यौन शोषण मामले में डेरामुखी सिरसा बाबा गुरमीत सिंह राम रहीम पर आज फैसला आएगा। लेकिन पुलिस और आर्मी हर हालात से निपटने को तैयार है। वहीं, शहर में अगले 2 से 3 दिन के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। इस दौरान एसएमएस भी नहीं भेज सकेंगे।
होम सेक्रेटरी अनुराग अग्रवाल ने पब्लिक इमरजेंसी एवं पब्लिक सेफ्टी रूल्स के तहत यह आदेश जारी किए। चंडीगढ़ में 2जी, 3जी, 4जी, सीडीएमए फोन पर इंटरनेट सेवा बंद रहेगी। सभी डोंगल सर्विसेज भी सस्पेंड रहेंगी। वहीं, रात 2 बजकर 45 मिनट पर पंचकूला के गांव देवी नगर के पास रात 2.45 बजे हाईवे किनारे सो रहे डेरा प्रेमियों ने जब जवानों की कदमताल सुनी तो उनकी आंख खुल गई। सभी नींद से उठकर बैठ गए और धन-धन सतगुरु तेरा आसरा जपने लगे।
सुबहः 11 बजे
हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने कहा कि इस क्षेत्र में शांति है और सब कुछ अंडरकंट्रोल है। हम पर विश्वास करें, कार्यवाही शांतिपूर्वक होगी।
सुबह 10-30 बजेः
पुलिस को हटाया। आर्मी ने संभाली कमान, हर-जगह पूरी तरह सील की। समर्थकों को पंचकूला की सेक्टर-2 स्थित कोर्ट से लगभग 1 किलोमीटर की दूर खदेड़ा। ऐसे इंतजाम किए हैं कि समर्थक कोर्ट तक आसानी से नहीं पहुंच सकते।
सुबह-10 बजे
कोर्ट का फैसला सुनने डेरा प्रमुख राम रहीम पंचकूला जा रहे हैं। इस बीच रास्ते में जहां-जहां से उनका काफिला गुजर रहा है राम रहीम के समर्थक उन्हें रोकने के लिए गाड़ियों के आगे लेट गए, कुछ समर्थकों की तबीयत बिगड़ी।
सुबह 9 बजे बाबा सिरसा से पंचकूला के लिए निकले...
डेरा प्रमुख राम रहीम सिरसा से पंचकूला के लिए सड़क के रास्ते से रवाना हुए। सिरसा से पंचकूला की दूरी 250 किलोमीटर है। यह दूरी 4 घंटे में तय होगी।
सुबह 6 बजे से 8 बजे तक चला योग और स्नान..
- डेरा समर्थक सुबह होते ही कोर्ट की तरफ कूच करने की तैयारी में जुट गए।
- उन्होंने सड़क पर ही योग किया और स्ननान।
- उनके लिए लंगर और चाय की व्यवस्था भी की गई थी।
सुबह 5:42 नहीं हटे समर्थक
दावों के बावजूद डेरा समर्थकों को पंचकूला से नहीं हटा पाई पुलिस। डटे रहे डेरा समर्थक।
सुबह 4:30 है फेडचौक को सीआरपीएफ जवानों के हवाले किया
सेक्टर-4 और 5 के बीच हैफेड चौक को सीआरपीएफ जवानों के हवाले कर दिया गया और यहां से पुलिस हटा ली गई है।
तड़के 4:15 महिलाओं को आगे करने की रणनीति
सुबह होने से पहले ही डेरा समर्थकों की रणनीति भी सामने आने लगी। रात भर अलग अलग जगहों पर रुके डेरा समर्थकों ने सुबह चार बजे के आसपास हलचल शुरू कर दी। डेरा समर्थकों में शामिल महिलाओं को शुक्रवार को होने वाली किसी भी गतिविधि में आगे करने की रणनीति ऐसा ही एक कदम था। सुबह चार बजे के बाद कई हिस्सों में महिलाओं की सक्रियता से अंदाजा लगाया जा सकता था कि डेरा समर्थकों ने पहले ही पुलिस की किसी भी गतिविधि के दौरान महिलाओं को आगे करने की स्ट्रेटजी तैयार की थी।
तड़के 4:05 सिमरनकर फिर सो गए डेरा समर्थक
देवीनगर में चार से पांच हजार समर्थक सिमरन कर फिर से सो गए हैं। मिलिट्री फोर्स तैनात है।
तड़के 4:00 हॉस्पिटल में गश्त
बाइक और पीसीआर पर तैनात पुलिसकर्मी सेक्टर-6 हॉस्पिटल में कर रहे गश्त।
तड़के 3:55 सेक्टर-21 से शुरू हुई हलचल, आगे बढ़ने लगे समर्थक
रातभर पुलिस की लाउडस्पीकर पर दी जा रही चेतावनी के बावजूद सुबह तीन बजकर 55 मिनट पर डेरा समर्थकों की हल्की मूवमेंट शुरू हुई। सेक्टर-21 और महेशपुर में रुके हुए डेरा समर्थक करीबन तीन बजकर 55 मिनट पर टोलियों की सूरत में आगे बढ़े। पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्सेस ने यहां दावा किया था कि डेरा समर्थकों को ज्यादा हिलने नहीं दिया जाएगा। लेकिन 4 बजने से कुछ देर पहले ही ये डेरा समर्थक आगे बढ़े और माजरी चौक पर जमा होने शुरू हो गए। इस एरिया में जीरकपुर से माजरी चौक के नजदीक कहीं भी पुलिस नजर नही आई। इस वजह से ये डेरा समर्थक अाराम से माजरी चौक पर पहुंच गए।
तड़के 3:50 लोहे की पाइपें लगाकर किया कवर
सेक्टर-6 हॉस्पिटल में आने वाले रोड्स पर पाइप कवर कर दिया गया है। सिर्फ एक गाड़ी यहां से निकल सकती है। पांच से छह मुलाजिम तैनात हैं।
रात 2:43 डेरा प्रेमियों ने बनाया घेरा, ताकि पहुंचे पुलिस
पुलिस से लेकर पैरा मिलिट्री फोर्सेस डेरा समर्थकों को घेरने की तैयारी कर चुकी थी तो डेरा समर्थकों ने भी किसी भी कार्रवाई की सूचना पहुंचाने के लिए अलग से स्ट्रेटजी तैयार की। डेरा समर्थकों को रात में उठाए जाने की आशंका थी तो डेरा समर्थकों ने पंचकूला के उन सेक्टरों की घेराबंदी कर दी जिन सेक्टरों में डेरा समर्थक जमा हुए थे। डेरा समर्थकों ने इन ऐसे हर सेक्टर के चारों कोनों के अलावा सेक्टरों में दाखिल होने वाले एंट्री प्वाइंट पर चार-पांच लोगों की टीमें खड़ी कर दीं।
रात 2:40 समर्थकों को दी वॉर्निंग
फ्लैगमार्च करने के बाद पैरा मिलिट्री ने समर्थकों को चेतावनी दी कि जीरकपुर-कालका हाईवे क्रॉस कर पंचकूला सेक्टर-1,2 और 4 की तरफ आएं।
रात 1:40 गुरुजी का आदेश मानेंगे, लेकिन सुनें कैसे
डेरा प्रमुख बाबा राम रहीम ने देर रात अपने समर्थकों को शांतिपूर्वक पंचकूला से हटने की बात चैनलों के माध्यम से कही। लेकिन डेरा समर्थक बाबा की अपील खुद सुनें बगैर हटने को तैयार नहीं थे। हैफेड चौक पर डटे डेरा समर्थकों के प्रवक्ता चमकौर सिंह पंचकूला से हटने को तैयार थे, लेकिन उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि वो लोग डेरा प्रमुख के संदेश को सुनें कैसे, क्योंकि इंटरनेट नहीं चल रहा है।
रात 1:00 आर्मी की 30 कंपनियां सेक्टर-1 के स्कूल में पहुंचीं...
पंचकूला प्रशासन ने डेरा समर्थकों को बाहर निकालने के लिए 30 कंपनियां मांगी थी। करीब रात 1 बजे जैनेंद्रा पब्लिक स्कूल, सेक्टर-1 में 30 कंपनियां पहुंच गईं। ये कंपनियां प्रशासन ने इसलिए मांगी थी, ताकि ताकि रात 2 बजे से सुबह 6 बजे कालका-पंचकूला हाईवे, सेक्टर-3, 2, 4 और 5 में जगह जगह बैठे डेरा प्रेमियों को शहर से बाहर किया जा सके।
रात 1:05 आर्मी ने कोर्ट के पास संभाला मोर्चा...
डेरा समर्थकों को सीबीआई कोर्ट तक पहुंचने से रोकने के लिए आर्मी ने मोर्चा संभाल लिया। सेना के जवान 1:05 एक पंचकूला के सेक्टर-1 स्थित सीबीआई कोर्ट पहुंची। आर्मी ने पहुंचते ही कोर्ट को कवर कर लिया। पंचकूला पुलिस पहले से ही पंचकूला सीबीआई कोर्ट को कवर करके बैठी थी।
रात 1:15 डीजीपी ने कानून व्यवस्था का लिया जायजा
डीजीपीबीएस संधू ने माजरी चौक स्थित कालका-शिमला हाईवे पर कानून व्यवस्था का जायजा लिया। कहा कि सेना की 40 कंपनियां मांगी गई हैं। 30 कंपनियां पंचकूला और 10 कंपनियां सिरसा पहुंच गई हैं। चाहे बाबा रहीम हवा से आएं या रोड से पर हमारी पूरी तैयारी हो चुकी है।
जानिए, कौन है बाबा रामरहीम...
- डेरा सच्चा सौदा की स्थापना 1948 में शाह मस्ताना महाराज ने की थी।
- शाह मस्ताना महाराज के बाद डेरा के गद्दीनशीन शाह सतनाम महाराज बने और उन्होंने 1990 में अपने अनुयायी संत गुरमीत सिंह को गद्दी सौंपी।
-संत गुरमीत का नाम संत गुरमीत राम रहीम सिंह इंसां कर दिया गया। संत गुरमीत मूल रूप से राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले के गांव गुरुसरमोडिया के रहने वाले हैं।
- हाल ही में 15 अगस्त को उन्होंने अपना 50वां बर्थ-डे सेलिब्रेट किया था।
- जन्मदिन की खुशी में डेरे में लगातार जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में समारोह और सत्संग चल रहे हैं।
- इसी बीच सीबीआई की विशेष अदालत 25 अगस्त को साध्वी यौन शोषण मामले में फैसला सुनाने जा रही है।

   

बाबा की सुनवाई से पहले पहुंचे सैकड़ों डेरा समर्थक, स्टेडियम को बनाया गया जेल

पानीपत। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर चल रहे साध्वी यौन शोषण मामले में 25 अगस्त को पंचकूला की सीबीआई कोर्ट में सुनवाई है। सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद हजारों डेरा प्रेमी पंचकूला में इकट्ठे हो चुके हैं। यहां सड़कों व पार्कों में उन्होंने डेरा डाल लिया है। इसे देखते हुए हरियाणा सरकार और पुलिस पूरी चौकसी बरत रही है। सीएम को भरोसा पेश होंगे डेरामुखी...
- सीएम मनोहर लाल ने मंगलवार को वरिष्ठ अफसरों के साथ बैठक कर सुरक्षा व्यवस्था की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा है कि डेरा प्रमुख ने 25 अगस्त को सीबीआई कोर्ट में उपस्थिति दर्ज कराने का भरोसा दिया है।
- डेरा अनुयायी शांति-व्यवस्था बनाए रखें। सरकार ने कानून व्यवस्था को लिए बनाई गई रणनीति पर अमल करते हुए डेरा प्रेमियों के नाम चर्चा, घरों में लाठी-डंडों और दूसरे हथियारों पर प्रतिबंध लगा दिया है। पुलिस अर्द्ध सैन्य बलों के साथ फ्लैग मार्च कर रही है।
- डेरा प्रेमियों की गिरफ्तारी की आशंकाओं के मद्देनजर चंडीगढ़ के क्रिकेट स्टेडियम समेत कई इमारतों को अस्थाई जेलों में तब्दील किया गया है। पंचकूला पुलिस और अर्द्ध सैन्य बलों ने सीबीआई अदालत परिसर को अपने सुरक्षा घेरे में ले लिया है। मंगलवार को अदालत परिसर में कुछ डेरा प्रमियों ने घुसने की कोशिश की। उन्हें परिसर में नहीं घुसने दिया तो वे सड़कों पर बैठ गए।
लगातार बढ़ रहीं संख्या
- पंचकूला में लगातार डेरा प्रेमी पहुंच रहे हैं। मंगलवार को वे सेक्टर-23 में नामचर्चा घर के पास इकट्ठे हुए। डीसी गौरी पराशर जोशी सीनियर अफसरों के साथ मौके पर पहुंचीं और डेरा प्रेमियों से कानून व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग की अपील की।
- डेरा प्रेमियों ने सहयोग का आश्वासन दिया। यह सुझाव भी दिया कि उन्हें एक जगह ऐसी दी जाए, जहां वे इकट्ठे हो सकें। शाम तक सेक्टर-5, सेक्टर-3 और सेक्टर 21 के पार्कों में भी डेरा प्रेमी आना शुरू हो गए।
- धर्मशालाओं, गेस्ट हाउस, होटल में बिना पुलिस वेरिफिकेशन के किसी भी व्यक्ति को ठहराने पर रोक है। हालात पर ड्रोन से निगरानी रखी जा रही है। प्रदेश के करीब 12 जिले अतिसंवेदनशील माने जा रहे हैं। पंचकूला पब्लिक स्कूल एसोसिएशन ने जिले के सभी प्राइवेट स्कूलों को 23 से 25 अगस्त तक बंद रखने का फैसला किया है।
- शांति-व्यवस्था कायम करने के लिए वरिष्ठ आईएएस वी.उमाशंकर को नियुक्त किया है। वे सभी संबंधित लोगों के साथ बैठक कर यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि राज्य में कानून-व्यवस्था को भंग होने दिया जाए। सूत्रों के मुताबिक डेरा प्रमुख को हवाई मार्ग से पंचकूला ले जाया जा सकता है।

   

फैसले के दिन कोर्ट में पेश होंगे डेरा चीफ, उधर स्कूल-कॉलेजों को टैम्परेरी जेल बनाने के निर्देश

चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह पर सीबीआई कोर्ट के फैसले के मद्देनजर हरियाणा सरकार पूरी तैयारी में है। हालांकि मंगलवार देर शाम सीएम मनोहर लाल खट्‌टर के मुताबिक डेरा चीफ ने कोर्ट में पेश होने की बात कही है, लेकिन दूसरी तरफ दिनभर चली तैयारियों की बात करें तो होम सेक्रेटरी रामनिवास ने कहा कि संदिग्ध लोगों की पहचान कर तुरंत गिरफ्तारी के आदेश दे दिए गए हैं। सरकार ने पैरामिलिट्री फोर्स की 115 कंपनियां और मांगी...
- बताते चलें कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह पर चल रहे साध्वी यौन शोषण मामले में 25 को पंचकूला की सीबीआई कोर्ट में फैसले के मद्देनजर सरकार पूरी चिंता में है।
- इसके चलते केंद्र सरकार से पैरा मिलिट्री फोर्स की 150 कंपनियां मांगी गई थी। केंद्र ने हरियाणा को 35 कंपनियां प्रोवाइड कराई और इनमें से अकेले सिरसा में 10 कंपनियां सोमवार को मोर्चा संभाल चुकी हैं।
- हरियाणा पुलिस के भी 6 नए डीएसपी सिरसा में भेजे गए हैं। फतेहाबाद में हरियाणा पुलिस की 6 कंपनियां मोर्चा संभाले हुए हैं तो मंगलवार को प्रदेश के सभी जिलों में धारा-144 लगा दी गई है, वहीं सरकार ने 115 कंपनियां पैरामिलिट्री फोर्स की और केंद्र सरकार से मांगी हैं।
- माना जा रहा है कि 25 को भारी संख्या में गिरफ्तारी हो सकती है, ऐसे में स्कूल-कॉलेजों और अन्य सरकारी बिल्डिंग्स को जेल के रूप में नामित करने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह पर के लिए अधिसूचना जारी की जा रही है।
- हरियाणा के होम सेक्रेटरी रामनिवास ने कहा कि संदिग्ध लोगों की पहचान कर तुरंत गिरफ्तारी के आदेश दे दिए गए हैं। जिस दिन सीबीआई कोर्ट का फैसला आएगा उस दिन डेरा समर्थकों की संभावित गिरफ्तारी के मद्देनजर जेलों से बाहर भी बंदोबस्त किए गए हैं। सरकारी भवनों को जेल के रूप में नामित करने के लिए अधिसूचना जारी की जा रही है।
- रामनिवास के अनुसार डेरा प्रेमियों के साथ लगातार बैठकों का दौर जारी है और उम्मीद की जा सकती है कि सबकुछ शांत रहेगा। अभी तक जितने भी पैरामिलिट्री फोर्स आई हैं, सभी को धीरे-धीरे तैनात किया जा चुका है। सभी जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है।
- 25 अगस्त को चंडीगढ़ के सभी खेल ग्राउंड अस्थायी जेल में तब्दील हो जाएंगे। वहीं कई अधिकारियों को मजिस्ट्रेट पावर का अधिकार भी होगा।
पंचकूला में सामान अौर छतरियां ले जाने पर विवाद
- पंचकूला में सीबीआई कोर्ट को जाने वाले सभी रास्ते सील कर दिए गए हैं। कई रास्तों के रूट बदल दिए गए हैं। सेक्टर-23 स्थित नामचर्चा घर में भारी संख्या में डेरा समर्थक एकत्रित हो रहे हैं।
- पुलिस द्वारा सुरक्षा के मद्देनजर सभी को चेकिंग के बाद आगे भेजा रहा है, वहीं कई नाकों पर सामान अौर छतरियां ले जाने को लेकर पुलिस अौर डेरा समर्थकों में बहस हुई।

   

1 मिनट 25 सेकंड में लूट: पानी पीया और पिस्टल अड़ाकर पैसे लूटे

गुड़गांव। गुड़गांव जिले में हेलीमंडी स्थित जेके फिलिंग स्टेशन पर मंगलवार सुबह 6 माह बाद दूसरी बार दो अज्ञात युवकों ने पिस्टल के बल पर सेल्समैन से पैसे लूट लिए। पुलिस ने इस संबंध में पीड़ित के बयान पर मुकदमा दर्ज कर सीसीटीवी की सहायता से बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है। 1 मिनट 25 सेकंड में लूट: पानी पीया और ऐसे की रैकी...
- फिंलिग स्टेशन पर कार्यरत कर्मचारी अजयपाल सिंह के अनुसार सुबह ठीक 3 बजकर 15 मिनट पर उनके पास दो मोटरसाइकिल सवार पेट्रोल डलवाने के लिए पहुंचे।
- उसे मोटरसाइकिल में 100 रुपए का तेल डालने को कहा। इस दौरान एक युवक मोटरसाइकिल के साथ खड़ा रहा और दूसरा पानी पीने के बहाने से रैकी कर आया।
- इसके बाद जब पेट्रोल डालने के बाद उसने पैसे मांगे तो एक ने उस पर पिस्टल तान दी जैसे ही उसने इसका विरोध किया तो दूसरे ने भी पिस्टल निकाल उस पर तान दी।
- इसके बाद दोनों ने उसकी तलाशी ली और जेब में रखे सारे पैसे लेकर फरार हो गए। सेल्समैन ने भागते हुए बदमाशों को पत्थर भी मारे, लेकिन वे पिस्टल लहराते हुए फरार हो गए।
- हैरानीजनक पहलू है कि पूरे 1 मिनट 25 सेकंड्स में बदमाशों ने आराम से पानी पिया और चहल-कदमी करके देखा कि कोई और तो पट्रोल पंप पर नहीं है और लूट की वारदात को अंजाम देकर फरार भी हो गए। पुलिस ने सीसीटीवी के आधार पर छानबीन शुरू कर दी है।
6 महीने में दूसरी वारदात
- इससे पूर्व भी इसी पेट्रोल पर ठीक 6 माह पूर्व 23 मार्च को तीन हथियार बंद लोगों ने दोपहर 2 बजे लूट का शिकार बनाया था। उस समय भी तीन हथियारबंद लोग पट्रोल पंप पर पहुंच और मात्र 22 सेकंड्स में 50 हजार रुपए की लूटकर फरार हो गए थे।

   

प्रदेश के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश, तालाब बने बेडरूम तो नहर बना हाईवे

पानीपत। पिछले दो दिन से चंडीगढ़-मोहाली में बीते दो दिन से भारी बारिश के चलते हालात सामान्य नहीं हैं। जलभराव के बाद कारें सड़कों पर खिलौनों की तरह तैरती नजर आई, वहीं मंगलवार को हरियाणा प्रांत के विभिन्न इलाकों में भी मूसलाधार बारिश हुई। इसके चलते रिहायशी इलाकों में जलभराव से लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। इतना ही नहीं सड़कों पर वाहन चालकों को भी दिक्कतें आई। तालाब बने घर-दुकान तो नहर जैसा था एनएच-73...
- बताते चलें कि पिछले कई बादलों के छाए रहने और ठंडी हवाओं केे चलने से मौसम भले ही कुछ राहतभरा रहा, लेकिन आधा दिन ढलने के बाद गर्मी से भी परेशानी होती थी। वजह थी बारिश न होना।
- मंगलवार सुबह से अंबाला में बरसात ने सभी को मुसीबत में डाल दिया। अंबाला में कुछ घंटों की बरसात के बाद नीचे के ही नहीं, बल्कि ऊंचे वाले इलाकों में भी पानी भर गया।
- बरसाती पानी लोगों के घरों व दुकानों में घुस गया, जिसके बाद लोग काफी मशक्कत से पानी निकालने में जुटे हुए हैं और लोगों ने घरों में अपना फर्नीचर तक समेट लिया। इसके अलावा पूरे शहर की सड़कों पर भी पानी घुटनों से ऊपर तक है।
- इसी तरह यमुनानगर में भी सुबह से हो रही मूसलाधार बरसात के चलते कई काॅलोनियां जलमगन हो गई। यहां तक कि नेशनल हाईवे नंबर 73 पर तीन से चार फीट तक पानी आ जाने से इस रास्ते से होकर निकलने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
- वहीं पानीपत, करनाल, कुरुक्षेत्र, सोनीपत, रोहतक, जींद व आसपास के इलाकों में भी मंगलवार को अच्छी बारिश हुई। अक्सर हरियाणा ही नहीं आसपास के राज्यों में भी लोगों को कहते सुना जा सकता है कि भादों की गर्मी बहुत जानलेवा होती है, लेकिन आज हुई बारिश के चलते सावन बीत जाने के बाद एक फिर लौट चुकी गर्मी से लोगों को राहत मिली।

   

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1785519

Site Designed by Manmohit Grover