You are here:

आमरण अनशन पर हुई महिला जेबीटी बेहोश, नौकरी पर बहाली का मिला आश्वासन

E-mail Print PDF

करनाल. लघु सचिवालय के सामने जेबीटी के आमरण अनशन के 21वें दिन एक महिला जेबीटी की तबीयत बिगड़ी और वह बेहोश हो गई। उसका शुगर लेवल 30 से नीचे पहुंच गया। महिला जेबीटी को तुरंत कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज में दाखिल कराया गया। वहीं दूसरी ओर जेबीटी का प्रतिनिधि मंडल पात्र अध्यापक संघ के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा के नेतृत्व में चंडीगढ़ में सीएम मनोहर लाल, प्रधान सचिव तथा ओएसडी से मिला। सीएम ने शिक्षकों की मांग को गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त मुख्य केके खंडेलवाल व एडवोकेट जनरल बलदेव राज महाजन को विशेष निर्देश जारी किए। सीएम ने दीपावली से पहले लो मेरिट 1259 अध्यापकों की समस्या का समाधान करते हुए विभाग में बहाल करने का आश्वासन दिया। इसके बाद आमरण अनशन पर बैठे अध्यापकों ने अनशन समाप्त करने पर सहमति जताई है। ओएसडी जवाहर यादव 12 अक्टूबर को दोपहर 2 बजे सीएम सिटी में धरना स्थल पर पहुंचेंगे और जूस पिलाकर शिक्षकों का अनशन खुलवाएंगे। जेबीटी शिक्षकों का कहना है कि वह नौकरी के लिए लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं। सरकार ने उनकी मांग स्वीकार करते हुए जल्द नौकरी बहाल करने का आश्वासन दिया है। उन्हें उम्मीद है कि जिस प्रकार से सरकार ने विभिन्न प्रकार के कानूनी अड़चनों को दूर करते हुए आठ हजार अध्यापकों को स्कूल भेजने का काम किया। उसी प्रकार लो मेरिट वालो जेबीटी को भी इस बार खुशियों भरी दीवाली मनाने का अवसर प्रदान करेगी।

 

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1852945

Site Designed by Manmohit Grover