You are here:

नाचते-नाचते दाग दी गोली और डीजे पर बहने लगा खून

खरड़.पार्टी में डीजे को लेकर हुए विवाद में एक युवक को गोली मार दी गई। घटना खरड़ के गांव झंजेड़ी की है। बुधवार रात हुई इस घटना में दरवाना गांव के हरप्रीत सिंह (21) की मौत हो गई। उसके जीजा हरजीत सिंह की शिकायत पर पुलिस ने चप्पड़चिड़ी खुर्द के सनी और उसके दो साथियों अमन वर्मा व सूरज के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

मालिक की सगाई थी

मजाल चौकी प्रभारी मिक्का सिंह ने बताया कि हरप्रीत गांव झंजेड़ी में पंकज शुक्ला की फैक्ट्री में टाइल बनाने का काम करता था। बुधवार को पंकज की सगाई हुई और रात को सब जश्न मना रहे थे। डीजे पर गाने को लेकर हरप्रीत का सनी, अमन और सूरज के साथ झगड़ा हो गया। बात इतनी बढ़ी कि सनी ने पिस्टल निकालकर उस पर दो फायर कर दिए।

एक गोली हरप्रीत के पेट में जा लगी। खून से लथपथ हरप्रीत को लोगों ने तुरंत सिविल अस्पताल पहुंचाया। लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया था। शिकायत का इंतजार करती रही पुलिस एक युवक की मौत हो गई, कोई कार्रवाई करने के बजाय पुलिस इंतजार करती रही शिकायत मिलने का। पुलिस ने अपनी तरफ से कोई छानबीन या आरोपियों तक पहुंचने की कोशिश ही नहीं की। मृतक के जीजा हरजीत सिंह ने वीरवार दोपहर करीब तीन बजे चौकी में जाकर लिखित शिकायत दी, तब जाकर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया।

 

मुकेरियां में हाईवे पर लगाया जाम, तनाव बढ़ा

मुकेरियां. गुरप्रीत सिंह शैंटी हत्याकांड में आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर बुधवार को शैंटी के परिजनों ने सिविल अस्पताल चौक में राष्ट्रीय राज्य मार्ग पर जाम कर दिया। जाम सुबह 11 से 12 बजे तक लगाया गया। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व गांव के सरपंच महावीर सिंह, जत्थेदार जगजीत सिंह व निरंजन सिंह कर रहे थे। शैंटी के परिजनों ने भाजपा के पूर्व विधायक अरुणोश शाकर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की, और अरुणोश शाकर की भी मामले में मिली भगत होने की आशंका जताई। प्रदर्शनकारियों में विधायक रजनीश कुमार बब्बी, जत्थेदार हरबंस सिंह मंजपुर, जगजीत सिंह मनसूरपुर, समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ठाकुर दयाल सिंह, पूर्व उपाध्यक्ष नगर कौंसिल रणजोध सिंह कुक्कू ने कहा कि पुलिस प्रशासन की मिलीभगत व इशारे पर आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है। उन्होंने इस मामले में डीएसपी दिलबाग सिंह को बदलने की मांग भीकी व पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह लगाए। पीड़ित परिवार की ओर से एडीसी बीएस धालीवाल, एसडीएम राहुल चाबा को दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए मांग-पत्र भी सौंपा गया। इस अवसर पर एडीसी धालीवाल व एसडीएम राहुल चाबा ने प्रदर्शनकारियों को आश्वासन देते हुए कहा कि इस मामले में कार्रवाई करते हुए थाना प्रभारी जगदीश राज को लाइन हाजिर किया गया है, वहीं सारे मामले की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों तक पहुंचा दी गई है।


28 जून को गांव मनसूरपुर में जमीनी विवाद को लेकर दो गुटों में हुई खूनी झड़प में अकाली नेता भूपिंदर सिंह सोना द्वारा अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से चलाई गोली से शैंटी की डीएमसी लुधियाना में मौत हो गई थी। जबकि खूनी झड़प में दो महिलाओं सहित सात लोग गंभीर रूप में घायल हो गए। भूपिंदर सिंह सोना के घर के बाहर दो गुटों में हुई खूनी जंग हुई खूनी जंग में सोना ने अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से फायर किया जिससे गुरप्रीत सिंह शैंटी (28) पुत्र जसविंदर सिंह गंभीर रूप में घायल हो गया था और जिसकी देर शाम लुधियाना के डीएमसी अस्पताल में मौत हो गई थी।


गांव मनसूरपुर के अकाली नेता भूपिंदर सिंह सोना की मां महिंदर कौर ने बताया था कि उसके बेटे सोना ने गांव की ही एक महिला प्रकाश कौर से 27 कनाल 5 मरले जमीन का सौदा किया। जिसका बनता बयाना उसके बेटे ने प्रकाश कौर को दिया था लेकिन प्रकाश कौर द्वारा जमीन की रजिस्ट्री न किए जाने पर यह मामला अदालत के पास चला गया था। अरुणोश शाकर ने कहा कि उनका मामले से कोई लेना देना नहीं हैं। प्रशासन मामले की गहनता से जांच करेगा और आरोपियों के खिलाफ पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी।

 

भाजपायी मेयर और अकाली जिला सचिव आपसे में भिड़े

जालंधर. कचहरी चौक स्थित मांगट अस्पताल में बुधवार शाम कमरा खाली कराने से संबंधित विवाद सुलझाने आए मेयर राकेश राठौर और अकाली दल के जिला सचिव प्रिंस सनन आपस में ही भिड़ गए। दोनों के बीच देर तक तू-तू, मैं-मैं हुई। एडीसीपी सिटी-वन आरके शर्मा और एसीपी सेंट्रल नरेश डोगरा की मौजूदगी में भाजपा और अकाली दल के नेताओं में तीखी बहसबाजी हुई।पुलिस ने प्रिंस को वहां से हटाकर मामले को शांत कराया। जिस विवाद को सुलझाने दोनों नेता आए थे उस पर अब वीरवार को बात होगी। मेयर जल्द कब्जा चाह रहे पक्ष की ओर से आए थे, जबकि प्रिंस जिनको कब्जा छोड़ना है उनकी ओर से आए थे। दोनों में बहसबाजी शुरू हो गई। प्रिंस ने मेयर पर धक्केशाही का आरोप लगाते हुए कहा- तू मेयर अपने घर होवेंगा, ऐहत्थे आके मेयरगिरी न दिखा। राठौर इस जवाब से गुस्से में आ गए। उन्होंने कहा- तू कित्थो दा लीडर है, चल बाहर निकल। इसके बाद मेयर ने प्रिंस का मोबाइल भी जमीन पर पटक दिया।विवाद समाप्त होने के बाद फोन पर भास्कर से बातचीत में अकाली दल के जिला प्रधान गुरचरण सिंह चन्नी ने कहा कि बहसबाजी खत्म होने के बाद मेयर से बातचीत हुई थी।
कमरा खाली कराने का मामला
मांगट अस्पताल के डा. जीएस मांगट ने अस्पताल का आधा हिस्सा किसी को बेच दिया था। जिस हिस्से को बेचा गया उसे डा. मांगट ने डा. राजेश अग्रवाल को किराये पर दे रखा था। इसलिए डा. अग्रवाल को कमरा खाली करना था, ताकि खरीदार उसे अपने कब्जे में ले सके। आधा से ज्यादा हिस्सा तो खाली हो गया मगर डा. अग्रवाल और डा. संजय मित्तल का केबिन खाली नहीं किया गया। इसके लिए डा. अग्रवाल ने बुधवार तक का समय मांगा।
बुधवार शाम तक कमरा खाली नहीं हुआ तो डा. मांगट उनसे बात करने आ गए। उनके साथ भाजपा के रमन शूरा पब्बी थे। अकाली सचिव प्रिंस सनन डा. अग्रवाल के समर्थन में आ पहुंचे। प्रिंस का कहना था कि खाली करने के लिए कुछ समय दे दो। रमन का कहना था कि समय लेने के बावजूद कमरा खाली नहीं किया। दोनों बहस कर रहे थे कि मेयर राकेश राठौर वहां पहुंच गए।
ऐसे बढ़ी दोनों नेताओं में बात
मेयर के आते ही प्रिंस ने जिला प्रधान चन्नी को फोन कर दिया और कहा कि मेयर व पूरी भाजपा ने अकाली दल की शान के खिलाफ बोला है और धक्केशाही कर रहे हैं। इस दौरान मेयर ने प्रिंस से फोन पकड़ लिया और चन्नी से बात करने लग गए। मेयर ने कहा कि ऐस बंदे ने मेरे नाल गलत तरीके नाल गल्ल कीती, ते उत्तों तुहाडे ना ते धमकियां देंदा।
मैं इसनू केहा कि चन्नी मेरा वड्डा भरा है। इतना कहते ही मेयर ने फोन फेंक दिया और प्रिंस को डॉ. अग्रवाल के कमरे से बाहर निकालने के लिए कहा। चन्नी के भाई भाजपा नेता अमरजीत सिंह अमरी भी वही थे, जो प्रिंस को बाहर ले गए। इसके बाद मेयर राठौर ने डा. मांगट और डा. अग्रवाल के साथ बैठकर बात की। डा. मांगट इस मसले पर चुप हैं। डा. अग्रवाल का कहना है कि उन पर दो से ज्यादा ऑपरेशन नहीं करने, मरीज एडमिट नहीं करने जैसी शर्तें थोप दीं, जो संभव नहीं थी।

   

यूनिवर्सिटी के समाने काट दिया छात्रा का सिर, तमाशबीन रहे लोग

अमृतसर.बुधवार शाम छह बजे गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी से अपने पीजी लौट रही 20 साल की छात्रा की बाइक सवार ने धारदार हथियार से गर्दन उड़ा दी। हमलावार तब तक छात्रा पर वार करता रहा जब तक कि उसकी गर्दन धड़ से अलग नहीं हो गई। घटना के बाद बाइक सवार फरार हो गया।सूचना मिलने के बाद थाना एसीपी कैंटोनमेंट और फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची और जांच शुरू कर दी। फिलहाल हत्यारा पुलिस की पकड़ से बाहर है। सरेराह की गई इस हत्या से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। हत्यारे ने घटना को अंजाम यूनिवíसटी से सौ मीटर की दूरी पर उस समय दिया जब छात्रा मोहनी पार्क स्थित अपने पीजी में लौट रही थी।  छात्रा की पहचान प्रीती अत्री के रूप में हुई है और दीनानगर की रहने वाली थी। खबर लिखे जाने तक हत्या के कारणों का पता नहीं लग पाया है। 20 साल की प्रीति अत्री जीएनडीयू में बीएससी ऑनर्स भाग पहला की छात्रा थी।
यहां सरेआम पी जाती है दारू, छेड़छाड़ आम बात
युवतियों से छेड़छाड़ और खुले में शराब, यह माहौल उस जगह का है, जहां जीएनडीयू की छात्रा का दिनदिहाड़े बाइक सवार कत्ल कर फरार हो गया। थाना कैंटोनमेंट के इलाका मोहनी पार्क में युवतियों से छेड़छाड़ की घटनाएं रोजाना होती हैं। इस कारण यहां से युवतियों व महिलाओं ने घर से अकेले निकलना ही छोड़ दिया है। क्षेत्रवासियों के मुताबिक इस बारे कई बार पुलिस को शिकायत भी की गई है, लेकिन पुलिस सुना अनसुना कर देती है। 
चंद कदम पर पुलिस चौकी
हैरानीजनक तो यह कि यहां खुले में शराब की महफिलें लगती हैं और पुलिस चौकी मात्र चंद कदमों पर है। मोहनी पार्क इलाके में रहने वाले लोगों ने बताया कि बाहर बनी मार्केट के फुटपाथों पर सुबह 10 बजे से ही युवकों की टोलियां बन जाती है। दोपहर को धूप के कारण भले ही टोलियां नजर नहीं आती, लेकिन साम होते ही टोलियां फिर बन जाती है और वहां से निकलने वाली युवतियों और महिलाओं से छेड़छाड़ की जाती है। शाम होते ही यह युवक खुले में बीयर व शराब पीने लग जाते हैं और शराब पीकर गुंडागर्दी व हुल्लड़बाजी करते हैं।

 

बादल नहीं होंगे उप राष्ट्रपति पद के लिए प्रत्याशी

मोहाली। पंजाब के मुख्‍यमंत्री परकाश सिंह बादल ने उप राष्ट्रपति के पद के लिए प्रत्याशी बनने से इंकार कर दिया है।मोहाली में एक कार्यक्रम में पहुंचे बादल से जब संवाददाताओं ने ये पूछा कि क्‍या उप राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी होंगे तो उन्‍होंने न में सिर हिलाया और चल दिए।
इससे पहले कार्यक्रम में उन्‍होंने कहा कि पंजाब में डेयरी का काम करने वाले किसानों को किसी तरह की कोई मुश्किल नहीं आने दी जाएगी,और जो भी किसान डेयरी के काम में बढ़ौतरी करना चाहते है और विदेश में जाकर बेहतर तकनीक के बारे जानकारी लेना चाहते है उन्हें सरकार की ओर से विदेश भेजा जाएगा।वो मोहाली में आयोजित दो दिवसीय डेयरी फार्मरों के वर्कशॉप के समापन पर पहुंचे थे।
उन्होंने कहा कि पंजाब के लोगों को डेयरी और फिश री के कामों की ओर ध्यान दिए जाने से लाभ होगा और सरकार की ओर से बनती पूरी सहायता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि उन्हें भी डेयरी का पूरा शौक है लेकिन समय कम होने के कारण वे ऐसा नहीं कर पाते लेकिन उनके पास भी कई अच्छी किस्म की भैंसे और गाय है।

   

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1853221

Site Designed by Manmohit Grover