You are here:

हरियाणा पुलिस की बठिंडा में सर्च, एक अरेस्ट, खुफिया विभाग को भी पता नहीं

E-mail Print PDF

बठिंडा.हनीप्रीत को संरक्षण देने के मामले में जांच के लिए हरियाणा पुलिस बठिंडा के जंगीराणा गांव में हनीप्रीत कौर व सुखदीप कौर को लेकर घूमती रही। दो चरणों में हरियाणा पुलिस ने वीरवार को आपरेशन चलाया। स्थिति यह थी कि पहले हरियाणा पुलिस ने बठिंडा पुलिस के मोस्ट’वांटेड व देशद्रोह के आरोपी महिन्दरपाल सिंह बिट्टू को गिरफ्तार किया व बाद में दुष्कर्म के दोषी गुरमीत सिंह के ड्राइवर इकबाल सिंह व उसकी पत्नी सुखदीप कौर की बुआ के घर में सर्च किया। कार्रवाई पूरी कर वापस लौटते हुए नंदगढ़ थाने में इंट्री डाली तो ऑपरेशन की जानकारी जिला पुलिस को लग सकी। खुफिया तंत्र भी जानकारी हासिल करने में नाकाम रहा। पंजाब पुलिस की कारगुजारी को लेकर हरियाणा पुलिस संतुष्ट नहीं दिखाई दी।
बठिंडा पुलिस से नहीं मिल रहा हरियाणा पुलिस को सहयोग
हरियाणा पुलिस को आशंका है कि पंजाब पुलिस हनीप्रीत के छिपने से लेकर उसे स्पोर्ट करने वाले लोगों के संबंध में उन्हें सही जानकारी नहीं दे रही है। इसका प्रमाण हनीप्रीत की तरफ से दावा जताना कि वह बठिंडा में रही जबकि पंजाब पुलिस अंत तक दावा करती रही कि वह बठिंडा में कभी आई ही नहीं। यही नहीं पंजाब में हिंसा भड़काने के लिए गठित सात मेंबरी कमेटी के प्रमुख महिन्दरपाल सिंह बिट्टू के खिलाफ 26 अगस्त को बठिंडा पुलिस देशद्रोह का मामला दर्ज करती है वही डेढ़ माह बीतने के बाद भी उसे गिरफ्तार करने में नाकाम रहती है। कोटकपूरा निवासी बिट्टू पंचकूला से हनीप्रीत को गाड़ी में बिठाकर विभिन्न स्थानों में घूमा व बाद में बठिंडा में आकर छिप गया। इसकी भनक भी पुलिस को नहीं लग सकी।
छह गाड़ियों में सवार होकर पुलिस पहुंची जंगीराणा
गांव में 6 गाड़ियों में हरियाणा पुलिस के अधिकारी व कर्मचारी पहुंचे। डीएसपी मुकेश कुमार के साथ लेडीज पुलिस स्टाफ सुबह हनीप्रीत और सुखदीप को लेकर आए व दोपहर बाद जांच पूरी कर रवानगी ले ली। एसआईटी ने इकबाल सिंह की बुआ शरणजीत कौर से पूछताछ की। उसने अपनी बहू के बीमार होने के कारण मामले में ज्यादा ध्यान नहीं देने की बात कही। हनीप्रीत व सुरदीप घर में ऊपरी मंजिल में रहती थी व वहां सुबह के नाश्ता बनाने से लेकर दोपहर व सांय का खाना अपने हाथों से बनाकर खाती थी।
जब उन्हें लड़की के हनीप्रीत होने का शक हुआ तो उन्होंने सुखदीप व हनीप्रीत को घर से निकल जाने के लिए कहा। इकबाल सिंह बल्लूआना गुरमीत राम रहीम का वफादार वाहन चालक रह चुका है, उसकी बुआ शरणजीत कौर की गांव जंगीराणा में महिंदर सिंह के साथ शादी हुई है। एडवोकेट कंवलजीत सिंह कुटी का कहना था कि यह बठिंडा पुलिस और खुफिया तंत्र की नाकामी है। नंदगढ़ थाना के प्रमुख प्रितपाल सिंह ने कहा कि पंचकूला पुलिस ने उन्हें जानकारी दी थी लेकिन वह उनके जाने के बाद ही वहां पहुंच सके।

 

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1801049

Site Designed by Manmohit Grover