You are here:

INDvsENG: ये रही 5 वजह, जिससे मिली टीम इंडिया को जीत

नई दिल्ली,  अनुभवी तेज गेंदबाज आशीष नेहरा (28 रन पर तीन विकेट) और मैन ऑफ द मैच जसप्रीत बुमराह (20 रन पर दो विकेट) के आखिरी ओवरों में किये गये शानदार गेंदबाजी के दम पर भारत ने इंग्लैंड को दूसरे ट्वेंटी-20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में पांच रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली है।
इंग्लैंड को आखिरी ओवर में जीत के लिये आठ रन की जरूरत थी और गेंद बुमराह के हाथों में था। लेकिन ट्वेंटी-20 स्पेशलिस्ट बुमराह ने अपनी पहली गेंद पर जो रूट (38) को lbw कर मेहमान टीम को करारा झटका दिया। इसके बाद जब इंग्लैंड को जीत के लिए सिर्फ 6 रन बनाने थे उस वक्त बुमराह ने मेहमान टीम को एक भी रन बनाने नहीं दिया।
भारत की यह जीत गेंदबाजों के नाम रही। इसके अलावा लोकेश राहुल ने भी अपनी बल्लेबाजी का कमाल दिखाते हुए भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई।
भारत की इस जीत के पांच कारण
आखिरी ओवर में बुमराह ने पलटी बाजी
बुमराह ने आखिरी ओवर में अपनी गेंदबाजी का कमाल दिखाते हुए टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। जब इंग्लैंड का पलड़ा भारी दिख रहा था उस समय बुमराह ने कमाल दिखाया। आखिरी ओवर में इंग्लैंड की जीत के लिए सिर्फ 8 रन बनाने थे। उन्होंने ओवर की पहली बॉल पर ही रूट को lbw किया, और चौथी बॉल पर बटलर को पवेलियन भेज दिया। इसके बाद जब इंग्लैंड को जीत के लिए 6 रन बचे थे उस वक्त भी बुमराह ने अपना कमाल दिखाया और इंग्लैंड को एक भी रन बनाने नहीं दिया।  मैच में बुमराह ने भारत के लिए 14 बार डॉट बॉल डाली।
मैन ऑफ द मैच जसप्रीत बुमराह ने कहा, 'अंतिम ओवरों में गेंदबाजी करना हमेशा मुश्किल होता है। लेकिन मैंने पहले भी ऐसी परिस्थितयों में गेंदबाजी की है और यहां भी वैसी ही गेंदबाजी करने की कोशिश की। पहली पारी में ही मुझे पता चल गया था कि गेंद बल्ले पर धीमी गति से आ रही है। इसलिए मैंने अपनी रणनीतियों से हिसाब से ही गेंदबाजी की और हम स्कोर का बचाव करने में सफल रहे।' मैन ऑफ द मैच बुमराह ने चार ओवर में 20 रन देकर दो विकेट झटके।
कप्तान कोहली ने बुमराह के बारे में बात करते हुए कहा, 'हर गेंद डालने से पहले मुझसे पूछ रहे थे कि मुझे कैसी गेंद फेंकनी चाहिए। मैंने बुमराह से कहा कि वह गेंद फेंको जो आप स्वभाविक रूप से अच्छी तरह फेंक सकते हो, और उन्होंने ऐसा ही किया।'

   

कोहली ने कहा-गेंदबाजों ने दिलाई जीत, नेहरा और बुमराह ने किया कमाल

नागपुर, भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे ट्वेंटी-20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में रविवार को पांच रन से मिली रोमांचक जीत का श्रेय अपने गेंदबाजों को दिया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए केएल राहुल के 71 रनों की शानदार प्रदर्शन की बदौलत आठ विकेट पर 144 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया और फिर इंग्लैंड को निर्धारित 20 ओवर में छह विकेट पर 139 रन पर रोककर पांच रन से मैच अपने नाम कर लिया।  
विराट ने मैच के बाद स्पिनरों के अलावा अपने दोनों तेज गेंदबाज आशीष नेहरा और जसप्रीत बुमराह की तारीफ करते हुए कहा, 'मध्यम ओवरों में स्पिनरों ने अच्छी गेंदबाजी की और ओस के बावजूद बुमराह और नेहरा ने जिस तरह गेंदबाजी की उसकी जितनी तारीफ की जाए वह कम है। नेहरा अपनी रणनीतियों को अच्छी तरह लागू करना जानते हैं। दूसरी ओर बुमराह हर गेंद डालने से पहले मुझसे पूछ रहे थे कि मुझे कैसी गेंद फेंकनी चाहिए। मैंने बुमराह से कहा कि वह गेंद फेंको जो आप स्वभाविक रूप से अच्छी तरह फेंक सकते हो, और उन्होंने ऐसा ही किया।'
144 रन के साधारण स्कोर का बचाव करने में भारत के गेंदबजों ने शानदार भूमिका निभाई। नेहरा ने अपने अनुभव का पूरा फायदा उठाते हुए चार ओवर में 28 रन देकर तीन खिलाड़ियों को आउट किया। इसके अलावा मैन ऑफ द मैच बुमराह ने चार ओवर में 20 रन देकर दो विकेट झटके। लेग स्पिनर अमित मिश्रा को 25 रन पर एक विकेट मिला।
राहुल ने खेली अच्छी पारी
कप्तान ने कहा, 'इस विकेट पर शॉट खेलना आसान नहीं था। मेरे आउट होने के बाद राहुल जानता था कि उन्हें लंबी पारी खेलनी है। राहुल हर तरह के शॉट अच्छी तरह से खेल सकता है। ऐसे रोमांचक मुकाबलों में अपनी क्षमता पर विश्वास बनाए रखना होता है। हमनें वही किया और अंतिम क्षणों में दबाव में शानदार प्रदर्शन करने में सफल रहे।'

   

नागपुर टी-20 : भारत की जीत में अंपायर की भूमिका..?

नागपुर: भारत और इंग्लैंड के बीच नागपुर के विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन ग्राउंड पर खेला गए दूसरे टी-20 मैच को भारत ने पांच रन जीत लिया. अब सीरीज हारने का डर फिलहाल भारत के ऊपर से कुछ देर के लिए टल गया है. अगर भारत बेंगलुरू में खेले जाने वाले तीसरे मैच को जीत जाता है तो सीरीज अपने नाम कर लेगा, नहीं तो सीरीज इंग्लैंड के कब्ज़े में होगी.
इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने सिर्फ 144 रन बनाए. केएल राहुल ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 47 गेंदों पर 71 रन बनाए. इंग्लैंड की मजबूत बैटिंग लाइन-अप देखते हुए यह लग रहा था कि इंग्लैंड इस मैच को आराम से जीत जाएगा, लेकिन भारत के तरफ से बुमराह और आशीष नेहरा ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए मैच को भारत की झोली में डाल दिया. नेहरा और बुमराह ने आठ ओवर में 48 रन देकर पांच विकेट लिए.
इस मैच को जीतने में जहां गेंदबाजों का विशेष योगदान रहा वहीं, अंपायर के इशारों ने भी भारत की जीत में एक बड़ी भूमिका अदा की.
अंपायर की पहली गलती : यह मैच अंपायरों के फैसलों के लिए भी जाना जाएगा. अंपायर ने कई ऐसे गलत निर्णय दिए जो इंग्लैंड के खिलाफ गए. विराट कोहली जब बल्लेबाजी कर रहे थे तब तीसरे ओवर में गेंदबाजी करने के लिए इंग्लैंड के क्रिस जॉर्डन आए. क्रिस की दूसरी गेंद कोहली के पैड पर लगी और जॉर्डन ने ज़ोरदार अपील की, लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया. रीप्ले में पता चला की गेंद स्टंप पर लग रही थी.
अंपायर की दूसरी गलती : भारत की पारी का नौवां ओवर चल रहा था. तब युवराज सिंह बल्लेबाजी कर रहे थे और मोईन अली गेंदबाज़ी. मोईन अली की पांचवीं गेंद को युवराज सिंह ने स्वीप करना चाहा, लेकिन गेंद उनके बल्ले पर न लगकर पैड पर लगी. तब मोईन अली ने ज़ोरदार अपील की लेकिन अंपायर शमसुद्दीन ने इस अपील को ख़ारिज कर दिया.
अंपायर की सबसे बड़ी गलती : आखिर ओवर में इंग्लैंड को जीतने के लिए आठ रन की जरुरत थी और मैदान पर सबसे टिकाऊ बल्लेबाज जो रूट मौजूद थे. बुमराह की पहली गेंद रूट के पैड पर लगी और बुमराह ने ज़ोरदार अपील की. गेंदबाज की अपील पर अंपायर ने रूट को आउट करार दिया, लेकिन बाद में पता चला कि गेंद रूट के बल्ले पर लगकर फिर पैड पर लगी.
इस तरह अंपायर के कुछ फैसले भारत के पक्ष में गए और इंग्लैंड दबाव में आ गया. भारत ने भी इन मौकों का भरपूर फायदा उठाया और मैच में जीत हासिल कर ली.

   

नागपुर मैच में बॉलिंग से छा गए नेहरा, फैन्स ने कहा नोकिया का पुराना मोबाइल


स्पोर्ट्स डेस्क.भारत और इंग्लैंड के बीच नागपुर में हुए दूसरे टी-20 मैच में आशीष नेहरा ने जबरदस्त बॉलिंग करते हुए तीन विकेट लिए। इस मैच को टीम इंडिया ने 5 रन से जीत लिया, और इस जीत में नेहरा की परफॉर्मेंस का भी बड़ा रोल रहा। मैच में नेहरा की शानदार बॉलिंग को देखकर सोशल मीडिया पर लोगों ने उनकी जमकर तारीफ की, और उनकी तुलना पुरानी शराब से लेकर नोकिया के पुराने मोबाइल से की।

   

पाकिस्‍तान की वनडे टीम की कप्‍तानी से हटाए जा सकते हैं अजहर अली, सरफराज को मिल सकती है कमान

कराची: ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में कमजोर प्रदर्शन की गाज टीम के कप्‍तान अजहर अली पर गिर सकती है. पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के सूत्रों के मुताबिक उन्‍हें पाकिस्‍तान की वनडे टीम की कप्‍तानी से हटाया जा सकता है. अजहर की जगह विकेटकीपर बल्‍लेबाज सरफराज को वनडे टीम की कमान सौंपी जा सकती है. वैसे, अजहर को मिस्‍बाह उल हक के संन्‍यास लेने के बाद पाकिस्‍तान की टेस्‍ट टीम की अगुवाई की जिम्‍मेदारी सौंपी जा सकती है. पाकिस्‍तान टीम ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज में अभी 1-3 के अंतर से पिछड़ रही है.
दूसरे शब्‍दों में कहें तो अजहर अली से वनडे टीम की कप्‍तानी की जिम्‍मेदारी ली जा सकती है और उन्‍हें मिस्‍बाह के संन्‍यास के बाद टेस्‍ट टीम की बागडोर सौंपने पर विचार हो रहा है. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सूत्रों के अनुसार मुख्य चयनकर्ता इंजमाम उल हक ने पीसीबी प्रमुख शहरयार खान को मार्च अप्रैल में वेस्टइंडीज दौरे में विकेटकीपर सरफराज अहमद को वनडे टीम का कप्तान नियुक्त करने की सलाह दी है.
सूत्रों ने कहा, ‘इंजमाम ने पीसीबी अध्यक्ष और अन्य पदाधिकारियों को समझाने की कोशिश की कि ऑस्ट्रेलियाई दौरे में बुरी तरह हार के बाद राष्ट्रीय टीम में बदलावों की जरूरत है.’ उन्होंने बताया कि यह फैसला किया गया है कि पीसीबी अध्यक्ष और मुख्य चयनकर्ता दोनों ही मिस्‍बाह और सीनियर बल्लेबाज यूनिस खान से बात करके उनकी भविष्य की योजनाओं के बारे में पता करें. 42 वर्ष के हो चुके मिस्‍बाह इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्‍यास लेने का संकेत दे चुके हैं. पाकिस्‍तान टीम के एक अन्‍य बल्‍लेबाज यूनुस खान भी 39 वर्ष के हैं हालांकि इन दिनों टेस्‍ट क्रिकेट में वे शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं. पाकिस्‍तान के सबसे कामयाब बल्‍लेबाजों में से एक यूनुस के नाम पर 34 शतक दर्ज हैं और वे टेस्‍ट में 10 हजार रन का आंकड़ा छूने के बेहद करीब हैं.

   
  • «
  •  Start 
  •  Prev 
  •  1 
  •  2 
  •  3 
  •  4 
  •  5 
  •  6 
  •  7 
  •  8 
  •  9 
  •  10 
  •  Next 
  •  End 
  • »

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1801049

Site Designed by Manmohit Grover