You are here:

वनडे रैंकिंग में भी इंग्लैंड से पिटी टीम इंडिया

दुबई.इंगलैंड घरेलू सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 4-0 से धोने के बाद जारी ताजा आईसीसी एकदिवसीय रैकिंग में भारत को अपदस्थ कर तीसरे स्थान पर पहुंच गया। इंगलैंड ने मंगलवार को मैनचेस्टर में पांचवें वनडे में ऑस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराकर पांच मैचों की सीरीज 4-0 से अपने नाम कर ली। इंगलैंड के अब 118 अंक हो गए हैं जबकि भारत 117 अंकों के साथ चौथे स्थान पर खिसक गया है। इंगलैंड को सीरीज जीतने से छह रेटिंग अंकों का फायदा हुआ जबकि चोटी की टीम ऑस्ट्रेलिया को चार रेटिंग अंकों का नुकसान हुआ। ऑस्ट्रेलिया की बादशाहत तो बची रह गई लेकिन उसकी स्थिति में काफी गिरावट आई है। ऑस्ट्रेलिया के 119 रेटिंग अंक हैं और चोटी की चार टीमों में अब सिर्फ दो अंकों का फासला रह गया है। दक्षिण अफ्रीका के भी 118 अंक हैं, लेकिन दशमलव के बाद की गणना में वह दूसरे स्थान पर बना हुआ है। भारत इस महीने बाद में पांचवे स्थान की टीम श्रीलंका (112) के खिलाफ होने वाली पांच वनडे मैचों की सीरीज में न केवल अपना खोया स्थान वापस हासिल कर सकता है, बल्कि आगे भी जा सकता है।

   

लंदन ओलंपिक के लिए अबकी बार कम एथलीट भेजेगा चीन

बीजिंग , 11 जुलाई। चीन ने लंदन ओलंपिक के लिए 396 खिलाड़ियों की टीम की घोषणा की है जो घरेलू सरजमीं पर चार साल पहले बीजिंग में हुए ओलंपिक के मुकाबले काफी छोटी टीम है। चीन बीजिंग ओलंपिक में पदक तालिका में शीर्ष पर रहा था। बीजिंग खेलों के दौरान स्वर्ण पदक जीतने वाले 29 खिलाड़ियों को इस बार भी टीम में शामिल किया गया है। सरकारी शिन्हुआ एजेंसी के मुताबिक टीम की घोषणा कल एक कार्यक्रम में की गई जिसमें खेल मंत्री ल्यू पेंग ने कहा, ‘‘दुनिया भर के खिलाड़ियों ने इन खेलों के लिए कड़ी मेहनत की है और वे पदक जीतने के लिए बेताब हैं, इसलिए मुकाबला काफी कड़ा होगा। उन्होंने कहा, ‘‘चीनी खिलाड़ियों को चुनौती का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार होना होगा। हमें प्रत्येक स्वर्ण के लिए कड़ी टक्कर देनी होगी।’’ चीन ने चार साल पहले बीजिंग में रिकार्ड 639 खिलाड़ी उतारे थे और 51 स्वर्ण पदक जीतकर शीर्ष पर रहा था। चीन ने बीजिंग में 51 में से 38 स्वर्ण पदक टेबल टेनिस, बैडमिंटन, गोताखोरी, निशानेबाजी, जिम्नास्टिक और भारोत्तोलन में जीते थे। लंदन में हालांकि चीन की नजरें तैराकी और ट्रैक एवं फील्ड जैसी अधिक प्रतिष्ठित ओलंपिक स्पर्धाओं में अच्छे प्रदर्शन पर टिकी होंगी।

   

बोपारा के आलराउंड प्रदर्शन से इंग्लैंड ने श्रृंखला 4-0 से जीती

लंदन , 11 जुलाई। रवि बोपारा के बल्ले और गेंद से जानदार प्रदर्शन की मदद से इंग्लैंड ने पांचवें और अंतिम एकदिवसीय क्रिकेट मैच में यहां आस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराकर श्रृंखला 4–0 से अपने नाम की। पचास ओवर के प्रारूप में अब भी दुनिया की नंबर एक टीम आस्ट्रेलिया की द्विपक्षीय श्रृंखलाओं में यह सबसे बड़ी हार है। मैन आफ द मैच बोपारा ने चार ओवर में आठ रन देकर दो विकेट चटकाए जिससे बारिश के कारण 32 ओवर का कर दिए गए मैच में आस्ट्रेलियाई टीम सात विकेट पर 145 रन ही बना सकी। दोबारा बारिश आने पर इंग्लैंड को 29 ओवर में 138 रन का संशोधित लक्ष्य मिले जिसे उसने बोपारा की नाबाद 52 रन की पारी की मदद से आसासी से हासिल कर लिया। बोपारा ने 56 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके जड़ने के अलावा इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टेयर कुक (58) के साथ 98 गेंद में 92 रन की साझेदारी भी की। इओइन मोर्गन ने इसके बाद विजयी रन बनाते हुए इंग्लैंड को लगातार 10वें वनडे जीत दिलाई। टीम ने 11 गेंद शेष रहते जीत दर्ज की।

   

कानूनी कार्रवाई में खिलाड़ियों का समर्थन करेगा फिका

सिडनी , 11 जुलाई। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर्स संघों के महासंघ (फिका) ने आज कहा कि वह खिलाड़ियों का भुगतान नहीं होने पर बांग्लादेश प्रीमियर लीग (बीपीएल) के खिलाफ होने वाली कानूनी कार्रवाई में खिलाड़ियों का साथ देगा। फिका ने इस स्थिति को ‘एक मजाक’ करार दिया है। बीपीएल के पहले टी20 टूर्नामेंट का आयोजन फरवरी में हुआ था और इसमें आस्ट्रेलियाई सहित कई विदेशी खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था लेकिन फिका के मुताबिक कम से कम 12 खिलाड़ियों को उनका पूरा भुगतान नहीं हुआ है जिसकी कुल राशि छह लाख डालर है। इसके अलावा स्थानीय बांग्लादेशी खिलाड़ियों को भी उनके वेतन का औसतन 60 प्रतिशत से भी कम का भुगतान किया गया है जबकि सिर्फ आठ खिलाड़ियों को उनकी पूरी राशि मिली है।
फिका के आस्ट्रेलियाई मुख्य कार्यकारी टिम मे ने कहा कि बीपीएल, बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड और उसके अध्यक्ष मुस्तफा कमाल से कई आश्वासन मिलने के बावजूद यह सिर्फ घोषणाएं और टूटे वादे ही साबित हुए हैं। मे ने एक बयान में कहा, ‘‘ऐसा लगता है कि बीपीएल फ्रेंचाइजी और बीसीबी या तो इन वित्तीय प्रतिबद्धताओं को पूरा करने में अक्षम हैं या वे इन्हें पूरा ही नहीं करना चाहते।’’ उन्होंने कहा, ‘‘फिका के पास बांग्लादेश में फ्रेंचाइजियों और बीसीबी के खिलाफ खिलाड़ियों की कानूनी कार्रवाई में उनका समर्थन करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है।’’

   

ओलंपिक में मानवजीत को पदक दिलाएगी एकाग्रताः पिता

नयी दिल्ली, 11 जुलाई। लंदन ओलंपिक के लिए भारतीय टीम में शामिल मानवजीत संधू की प्रशंसा करते हुए उनके पिता और निजी कोच गुरबीर सिंह ने कहा है कि इस ट्रैप निशानेबाज की एकाग्रता बहुत शानदार है और उसका यही गुण उसे लंदन ओलंपिक में पदक दिलाएगा। गुरबीर ने ‘भाषा’ से विशेष बातचीत में कहा कि निशानेबाजी ऐसा खेल है जिसमें एकाग्रता पर ही सब कुछ निर्भर करता है। मानवजीत लंबे समय से अपने ध्यान को भंग होने से बचाने पर मेहनत कर रहा है और उसे काफी सफलता भी मिली है। उसकी एकाग्रता ही उसे लंदन में पदक दिलाने में मददगार साबित होगी। वर्ष 2006 में आईएसएसएफ विश्व निशानेबाजी चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक सहित कई अन्य पदक जीत चुके 36 वर्षीय मानवजीत लंदन ओलंपिक में पांच और छह अगस्त को निशानेबाजी की ट्रैप स्पर्धा में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार विजेता निशानेबाज फिलहाल इटली में अन्य खिलाड़ियों के साथ अपनी तैयारियों को अंतिम रूप दे रहा है और 16 जुलाई को लंदन के लिए रवाना होगा। गुरबीर ने कहा कि ट्रैप स्पर्धा में भाग लेने वाले दुनियाभर के 36 शीर्ष निशानेबाज अपनी तैयारियां लगभग पूरी कर चुके हैं और अब सबकुछ उस विशेष दिन के प्रदर्शन पर निर्भर करेगा जिस दिन स्पर्धा होनी है।

   

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1802683

Site Designed by Manmohit Grover