You are here:

युवराज सिंह के बाद अब ‘नजफगढ़ के नवाब’ वीरेंद्र सहवाग की होगी वापसी?

E-mail Print PDF

नई दिल्ली, युवराज सिंह ने वनडे क्रिकेट में जिस प्रकार तीन साल के बाद वापसी की और अपने करियर की सबसे बड़ी पारी (150 रन) खेली उससे अब एक और विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग की वापसी की अटकलें लगाई जा रही हैं.
टीम इंडिया को एक अदद ओपनर की तलाश
पिछले एक साल के दौरान खेली गई 12 पारियों के दौरान भारत की ओर से केवल एक ओपनिंग शतकीय साझेदारी (जिम्बाब्वे के खिलाफ) हुई है. एक साल पहले रोहित शर्मा ने पर्थ में 151 और ब्रिसबेन में 124 रनों की पारी खेली थी तो शिखर धवन का बल्ला भी पिछले साल जनवरी में एक अर्धशतक (मेलबर्न में 68 रन) और एक शतक (कैनबरा में 126 रन) जमाने के बाद से लगभग खामोश रहा है.
बतौर ओपनर धवन और रहाणे नहीं चले
इस बीच शिखर धवन और रोहित शर्मा चोटिल होने की वजह से टीम से बाहर भी रहे. टीम इंडिया ने लोकेश राहुल और अजिंक्य रहाणे से भी पारी की शुरुआत कराई लेकिन जिम्बाब्वे के खिलाफ राहुल के एक शतक के अलावा बात नहीं बनी. रोहित जहां अभी भी चोटिल हैं वहीं धवन की टीम में वापसी हुई लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ पहले दो वनडे में ना तो वो चले और न ही राहुल. शिखर ने 1 और 11 तो राहुल ने 5 और 1 रन की पारी खेली.
क्यों हो सकती है सहवाग की वापसी?
सहवाग ने 251 वनडे मैचों के अपने करियर के दौरान 15 शतक, 38 अर्धशतकों और 35.06 के औसत की मदद से 8273 रन बनाए हैं. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 104.33 का रहा. होल्कर स्टेडियम में दिसंबर 2011 में महज 149 गेंदों पर 219 रनों की पारी वनडे में सहवाग का सर्वोच्च स्कोर है. 15 में से 14 शतक और 38 में से 35 अर्धशतक के साथ ही 8273 में से 7518 रन सहवाग ने बतौर ओपनर बनाए हैं. इतना ही नहीं, सहवाग के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में लगभग 17 हजार रन बनाने का अनुभव भी हैं. हालांकि उनकी उम्र 38 साल की हो गई है इस वजह से वो मास्टर्स क्रिकेट में खेलने चले गए थे. लेकिन जब सहवाग पिच पर डटे हों तो उनका खौफ किस कदर गेंदबाजों और विपक्षी कप्तान पर हावी होता है इसे यूं समझा जा सकता है.
सहवाग हैं ‘किंग ऑफ इंटरटेनमेंट’
सहवाग की विस्फोटक बल्लेबाजी पर कमेंटेटर और पूर्व भारतीय स्पिनर लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन ने एक बार कहा था कि ‘सहवाग बॉल को हिट करना चाहते हैं तो बॉलर कितना भी अच्छा क्यूं न हो भगवान उसे बचाए जो उनकी राह में खड़ा है.’
ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज ब्रेट ली ने सहवाग के विषय में कहा था कि ‘इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने भी अनुभवी और बेहतर हैं, सहवाग आपके मनोभाव को तहस नहस कर देगा.’ तो ली के ही टीम मेट ग्लेन मैग्रा का कहना था कि उन्होंने ‘सहवाग जैसा अप्रत्याशित बल्लेबाज अपने करियर में नहीं देखा.’
पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज राजा सहवाग को ‘किंग ऑफ इंटरटेनमेंट’ कहा करते थे. वहीं भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर कहते थे कि मुझे सहवाग से नर्वस 90 में खेलना सीखना होगा. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने सहवाग को दुनिया का सबसे निडर बल्लेबाज बताया था.
पाकिस्तान के वकार यूनिस सहवाग के बारे में कहते थे कि ‘आप 298 पर खेल रहे हो इसके बावजूद छक्के से तिहरा शतक बनाते हैं. यह असंभव सा दिखता है. निश्चित ही आप जीनियस हैं.’ दुनिया के महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न सहवाग को अपनी सर्वकालिक टीम में तो रखना और उनकी बल्लेबाजी को देखना चाहते है लेकिन सहवाग के खिलाफ बॉलिंग करना वॉर्न को पसंद नहीं.
सहवाग ने ट्विटर को बनाया बैटिंग पिच
दूसरी तरफ आज कल बल्ले की जगह अपने ट्वीट से धूम मचा रहे सहवाग ने धोनी और युवी की पारी पर बेहतरीन कमेंट किया. उन्होंने धोनी और युवी की तस्वीर के साथ लिखा कि केवल पुराने नोट ही चलन में नहीं रहे और साथ ही उन्हें इस पारी की बधाई दी.
अब जबकि युवराज सिंह वापसी के बाद अपने शानदार फॉर्म में दिख रहे हैं. कप्तान विराट और पूर्व कप्तान धोनी भी अपने बल्ले से रन बरसा रहे हैं. तो मध्यक्रम तो मजबूत दिख रहा है लेकिन टीम को मैच दर मैच अच्छी ओपनिंग की कमी खल रही है. ऐसे में चार साल पहले पाकिस्तान के खिलाफ ईडन गार्डन्स पर अपना आखिरी वनडे खेलने वाले विस्फोटक बल्लेबाज सहवाग के मन में भी कहीं न कहीं वापसी के विचार जगने लगे होंगे. साथ ही उनके प्रशंसकों के दिमाग में भी यह प्रश्न उठने लगे हैं कि क्या अब सहवाग की भी टीम इंडिया में वापसी होगी. इतना ही नहीं, अगर ऐसा होता है तो यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से उन्हें अपने विस्फोटक अंदाज में संन्यास लेने का बेहतरीन मौका भी होगा.

 

aaj ki khaber

Epaper

राष्ट्रीय संस्करण

हरियाणा प्लस

सिरसा संस्करण

 


YOU ARE VISITOR NO.1824022

Site Designed by Manmohit Grover