INDvsENG: ये रही 5 वजह, जिससे मिली टीम इंडिया को जीत

Print

नई दिल्ली,  अनुभवी तेज गेंदबाज आशीष नेहरा (28 रन पर तीन विकेट) और मैन ऑफ द मैच जसप्रीत बुमराह (20 रन पर दो विकेट) के आखिरी ओवरों में किये गये शानदार गेंदबाजी के दम पर भारत ने इंग्लैंड को दूसरे ट्वेंटी-20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में पांच रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली है।
इंग्लैंड को आखिरी ओवर में जीत के लिये आठ रन की जरूरत थी और गेंद बुमराह के हाथों में था। लेकिन ट्वेंटी-20 स्पेशलिस्ट बुमराह ने अपनी पहली गेंद पर जो रूट (38) को lbw कर मेहमान टीम को करारा झटका दिया। इसके बाद जब इंग्लैंड को जीत के लिए सिर्फ 6 रन बनाने थे उस वक्त बुमराह ने मेहमान टीम को एक भी रन बनाने नहीं दिया।
भारत की यह जीत गेंदबाजों के नाम रही। इसके अलावा लोकेश राहुल ने भी अपनी बल्लेबाजी का कमाल दिखाते हुए भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई।
भारत की इस जीत के पांच कारण
आखिरी ओवर में बुमराह ने पलटी बाजी
बुमराह ने आखिरी ओवर में अपनी गेंदबाजी का कमाल दिखाते हुए टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। जब इंग्लैंड का पलड़ा भारी दिख रहा था उस समय बुमराह ने कमाल दिखाया। आखिरी ओवर में इंग्लैंड की जीत के लिए सिर्फ 8 रन बनाने थे। उन्होंने ओवर की पहली बॉल पर ही रूट को lbw किया, और चौथी बॉल पर बटलर को पवेलियन भेज दिया। इसके बाद जब इंग्लैंड को जीत के लिए 6 रन बचे थे उस वक्त भी बुमराह ने अपना कमाल दिखाया और इंग्लैंड को एक भी रन बनाने नहीं दिया।  मैच में बुमराह ने भारत के लिए 14 बार डॉट बॉल डाली।
मैन ऑफ द मैच जसप्रीत बुमराह ने कहा, 'अंतिम ओवरों में गेंदबाजी करना हमेशा मुश्किल होता है। लेकिन मैंने पहले भी ऐसी परिस्थितयों में गेंदबाजी की है और यहां भी वैसी ही गेंदबाजी करने की कोशिश की। पहली पारी में ही मुझे पता चल गया था कि गेंद बल्ले पर धीमी गति से आ रही है। इसलिए मैंने अपनी रणनीतियों से हिसाब से ही गेंदबाजी की और हम स्कोर का बचाव करने में सफल रहे।' मैन ऑफ द मैच बुमराह ने चार ओवर में 20 रन देकर दो विकेट झटके।
कप्तान कोहली ने बुमराह के बारे में बात करते हुए कहा, 'हर गेंद डालने से पहले मुझसे पूछ रहे थे कि मुझे कैसी गेंद फेंकनी चाहिए। मैंने बुमराह से कहा कि वह गेंद फेंको जो आप स्वभाविक रूप से अच्छी तरह फेंक सकते हो, और उन्होंने ऐसा ही किया।'