राष्ट्रीयसमाचार

पंजाब के पूर्व डीजीपी के खिलाफ हत्या और अपहरण मामले में चार्जशीट दाखिल

मोहाली। पंजाब के 29 साल पुराने आईएएस के बेटे बलवंत सिह मुल्तानी के अपहरण और हत्या के मामले में मोहाली पुलिस ने पंजाब के पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी के खिलाफ जिला अदालत में चार्जशीट फाइल कर दी है। 500 पेज की चार्जशीट में 47 लोगों को गवाह बनाया गया है। सैनी के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 364, 201, 344, 330, 219 और 120 के तहत चार्जशीट दाखिल की गई है। इस मामले में चंडीगढ़ के पूर्व थानेदार इंस्पेक्टर जागीर सिंह और थानेदार कुलदीप सिंह को सरकारी गवाह बनाया गया है। वहीं सैनी को 22 जनवरी को अदालत में पेश करने के आदेश दिए है। जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने के बाद सैनी अभी तक न तो मामले की जांच कर रही एसआईटी के सामने पेश हुए है और न ही उन्होंने अदालत में बांड भरा है। कानूनी माहिरों के मुताबिक चार्जशीट दाखिल होने के बाद कभी भी जमानती बांड भर सकते हैं।

ये है पूरा मामला : मामला 90 के दशक का है। उस समय सुमेध सिंह सैनी चंडीगढ़ के एसएसपी थे। 1991 में उन पर आतंकी हमला हुआ। उस हमले में सैनी की सुरक्षा में तैनात चार पुलिसकर्मी मारे गए थे, वहीं सैनी भी जख्मी हो गए थे। उस केस के संबंध में पुलिस ने सैनी के ऑर्डर पर पूर्व आईएएस ऑफिसर दर्शन सिंह मुल्तानी के बेटे बलवंत सिंह मुल्तानी को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने उसे हिरासत में रखा और फिर बाद में कहा कि वह पुलिस की गिरफ्त से भाग गया। वहीं, परिजनों का कहना था कि बलवंत की पुलिस के टॉर्चर से मौत हो गई। सैनी और अन्य पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मोहाली के मटौर थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 364, 201, 344, 330 और 120बी के तहत मामला दर्ज है।

banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *