Saturday, November 28
राष्ट्रीयसमाचार

भारत बंद के आह्वान पर देशभर में प्रदर्शन


पल पल न्यूज: चंडीगढ़, 5 नवंबर (ललिता जामवाल)। देश भर की किसान जत्थेबंदियों की ओर से भारत बंद के किए किए गए आह्वान के बाद वीरवार को पूरे देश में किसानों की ओर से चक्का जाम किया गया। वहीं पंजाब में इसका असर सबसे ज्यादा देखने को मिला। गुस्साए किसानों ने स्टेट और नेशनल हाईवे जाम करने के साथ मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए ऐलान किया गया जब तक मांग पूरी नहीं होती तब तक संघर्ष जारी रहेगा। इस किसान आंदोलन से रेलवे को भी 1200 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। हालांकि किसानों ने 20 नवंबर तक माल गाडिय़ों को गुजरने से छूट दी है।


गौरतलब हो कि किसान एक महीने से ज्यादा का समय हो गया है सड़कों पर ऊतरे हुए हैं किसानों ने आज के आंदोलन का पहले ही ऐलान कर दिया था। पंजाब के गुस्साए किसानों ने चार घंटे चक्का जाम किया। इससे जहां यातायात ठप रहा वहीं यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। किसानों ने हिसार चंडीगड़ नेशनल हाईवे, जीकरपुर हाईवे, रूपनगर, हिसार चंडीगढ़ नेशनल हाई वे, गढ़शंकर के निकट चंडीगढ़ रोड, फिराजपुर गुरूहरसहाय मुख्य मार्ग, भटिंडा में भाई कन्नईया चौक, लुधियाना, अमृतसर के एंट्री प्वाइंट गोल्डन गेट पर, रूपनगर, खडूर साहिब,फरीदकोट में गांव टहना के निकट राष्ट्रीय मार्ग, संगरूर में सुनाम मानसा मुख्य मार्ग, नाभा मलेरकोटला रोड पर दुलद्यी वाले पुल पर, पठानकोट के जम्मू दिल्ली हाईवे सहित पूरे पंजाब में किसानों का आक्रोश देखने को मिला। वहीं पंजाब बीजेपी शिष्टमंडल की बैठक भी रेल मंत्री से रेल भवन में हुई। कांग्रेस सांसदों से पहलीे यह मुलाकात की गई। वीडीओ कॉन्फ्रेसिंग के जरिए हुई। बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव तरूण चुघ की अगुवाई में बैठक हुई है। इस पर तरूण चुघ ने कहा कि पंजाब सरकार लिखित गारंटी देगी तो रेल चलेगी। पंजाब में अभी भी किसान रेल लाइनों पर बैठे हैं और रेल लाइनें पूरी तरह से क्लीयर नहीं हुई है,इसके लिए सीधे तौर पर कांग्रेस जिम्म्मेदार है। उन्होंने कहा कि वे कैप्टन अमरिंदर से अपील करते हैं कि इस मुद्दे पर राजनीतिक रोटियां सेकने की बजाय किसानों को समझाएं क्योंकि कृषि कानून उनके हितों के लिए ही लाए गए हैं। उन्होंने कहा कि जब पंजाब मौजूदा स्थिति से निकलेगा तब ही पंजाब में रेलें चलेंगी। हरियाणा में भी कई स्थानों पर किसानों ने हाइवे तथा लिंक रोड पर धरना देकर जाम लगाया। हालांकि सभी स्थानों पर जाम व धरना शांतिपूर्ण रहा। सुरक्षा की दृष्टि से सभी स्थानों पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था।

banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *