समाचारहरियाणा

पराली प्रबंधन की मांग पर धरनारत किसानों ने उपायुक्त को दिया ज्ञापन

पल पल न्यूज: सिरसा, 19 अक्टूबर। सिरसा के शहीद भगत सिंह स्टेडियम में धरनारत पक्का मोर्चा के किसानों ने प्रशासन द्वारा पराली जलाए जाने पर लगाई गई रोक के विरोध में सोमवार को जिला उपायुक्त को एक ज्ञापन सौंपा। उपायुक्त को सौंपे गए ज्ञापन में हरियाणा किसान मंच के प्रदेशाध्यक्ष प्रहलाद सिंह भारूखेड़ा ने बताया कि सरकार ने धान की पराली जलाए जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिसको लेकर किसान काफी चिंतित है। क्योंकि किसानों के पास पराली को जलाने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है। हरियाणा के अन्य क्षेत्रों की तरह जिला सिरसा में भी धान की फसल कटने के बाद अगली फसल बोने का समय आ गया है। धान उत्पादक किसान पराली हटा कर ही अगली फसल की बिजाई कर पायेगा। पराली को हटाने के लिए किसानों के पास जरूरी मशीनें नहीं हैं। इन मशीनों का प्रबंध करने में किसान आर्थिक रूप से असमर्थ हैं। मशीन उपलब्ध न होने की स्थिति में किसान के पास अगली फसल बोने के लिए पराली जलाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। जबकि किसान पराली जलाने के पक्ष में नहीं है। पराली जलाने से पैदा होने वाले प्रदूषण से किसान व उनके समाज पर सबसे पहले दुष्प्रभाव पड़ता है। उपायुक्त से पक्का मोर्चा के किसानों ने मांग की है कि सरकार के दावों के अनुरूप किसानों को पराली निष्पादन के लिए मशीनें उपलब्ध करवाएं, ताकि किसान को पराली जलाने के लिए बाध्य न होना पड़े। इस मौके पर काफी संख्या में किसान मौजूद थे।
बाई रोड़ी गु्रप में दिया किसानों को समर्थन
बाई गु्रप रोड़ी के सदस्य आज सिरसा में बाल भवन से प्रदर्शन करते हुए स्टेडियम में पहुंचे जहां उन्होंने किसानों के धरने को अपना समर्थन दिया। ग्रुप के पदाधिकारी लखबीर लक्खा, नवदीप, राजू अन्य ने बताया कि केंद्र की ओर से जो कृषि बिल पारित किए गए हैं वे किसानों के हित में नहीं है। किसान इन बिलों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार कोई ध्यान नहीं दे रही है। इसलिए उनके ग्रुप ने किसानों को अपना समर्थन दिया है और किसानों की इस लड़ाई में उनके ग्रुप कंधा सेकंधा मिलाकर संघर्ष करेगा।

banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *