समाचार

हरियाणा सरकार ने महिलाओं को किया गुमराह: सैलजा



पल पल न्यूज: चंडीगढ, 8 जनवरी । हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा कि हरियाणा की भाजपा-जजपा सरकार ने एक बार फिर अपनी महिला विरोधी मानसिकता का परिचय दिया है। हरियाणा सरकार ने पंचायती राज संस्थाओं में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण का जो ढोल पीटा था, उसकी कलई खुल गई है। सरकार का यह फैसला महिलाओं को 50 प्रतिशत अनारक्षित सीटों पर चुनाव लड़ने से वंचित कर देगा। हरियाणा सरकार द्वारा पंचायती राज संस्थाओं में महिलाओं को 50 प्रतिशत तक ही सीमित रखना उसके महिला विरोधी चेहरे को उजागर करता है।हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने यहां यह बयान जारी करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार का यह फैसला पूरी तरह से असंवैधानिक है। अन्य राज्यों में भी महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था है, लेकिन उनमें कहीं भी ऐसा नहीं है कि इससे अधिक महिलाएं जनप्रतिनिधि नहीं बन सकती हैं। हरियाणा सरकार का यह फैसला पूरी तरह से संविधान के खिलाफ है। कुमारी सैलजा ने कहा कि सरकार के इस फैसले से उसके महिला सशक्तिकरण के दावों की पोल खुल गई है। सरकार सिर्फ दिखावा करती है। असल में उसकी सोच ही महिला विरोधी है। महिलाओं को 50 प्रतिशत सीटों से वंचित रखने के इस षड्यंत्रकारी फैसले ने भाजपा-जजपा सरकार की एक बार फिर पोल खोलकर रख दी है। कुमारी सैलजा ने कहा कि हरियाणा सरकार केवल वाहवाही लूटने के लिए 50 प्रतिशत महिलाओं के आरक्षण की बात कह, बाकी 50 प्रतिशत में उनके चुनाव लड़ने को रोकने का काम कर रही है। 50 प्रतिशत आरक्षण का मतलब यह नहीं है कि इससे अधिक महिलाएं जनप्रतिनिधि नहीं बन सकती हैं। हरियाणा की भाजपा-जजपा सरकार की यह शर्त महिला विरोधी है। सरकार आरक्षित सीटों के साथ-साथ अनारक्षित सीटों पर भी महिलाओं को चुनाव लड़ने का मौका दे।

banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *