पंजाबराजस्थानराष्ट्रीयसमाचारहरियाणा

21 अगस्त को चार प्रदेशों की अनाज मंडी बंद कर आढ़ती जताएंगे रोष

  • इस दौरान निर्णय लिया गया कि 21 अगस्त को चार प्रदेशोंं की अनाज मंडी बंद रखकर काले बिल्ले लगाकर आढ़ती केंद्र सरकार के खिलाफ रोष जाहिर करेंगे

  • हरियाणा, पंजाब, राजस्थान व चंडीगढ़ के आढ़तियों की हुई बैठक


हरियाणा, पंजाब, राजस्थान व चंडीगढ़ के आढ़तियों की हुई बैठक
सिरसा।पल पल न्यूज: हरियाणा, पंजाब, राजस्थान व चंडीगढ़ की अनाज मंडियों के पदाधिकारियोंं व सदस्यों की एक बैठक रविवार को एक निजी रिसोर्ट में हुई, जिसका संचालन हरियाणा स्टेट अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन के उप प्रधान हरदीप सरकारिया ने किया। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि 21 अगस्त को उक्त चार प्रदेशों की अनाज मंडियों को बंद कर काले बिल्ले लगाकर रोष व्यक्त किया जाएगा।

बैठक की अध्यक्षता हरियाणा स्टेट अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन प्रदेशाध्यक्ष अशोक गुप्ता ने की। बैठक में सैंकड़ों की संख्या में आढ़तियों ने भाग लिया और सरकार के खिलाफ रोष जाहिर किया। बैठक को संबोधित करते हुए हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष अशोक गुप्ता ने कहा कि सरकार आढ़तियों का वजूद मिटाने पर तुली है। आए दिए नए नए अध्यादेश लागू कर रही है जिससे किसान व आढ़ती के बीच तनाव की स्थिति उत्पन्न हो। आढ़तियों के साथ अन्याय किया जा रहा है। इसलिए हमें अब एकजुट होने की आवश्यकता है अन्यथा हमें खत्म कर दिया जाएगा।

बैठक में मुख्य रूप से फैडरेशन ऑफ आढ़तियान एसोसिएशन पंजाब के प्रधान विजय कालड़ा, आढ़तियान एसोसिशन पंजाब के प्रधान रविंद्र चीमा, राजस्थान खाद्य पदार्थ व्यापार संघ के प्रतिनिधि रतनलाल व हनुमान गोयल, चंडीगढ़ ग्रेन मार्केट एसोसिएशन प्रधान सुशील मित्तल भी मौजूद थे और सभी पदाधिकारियों ने कहा कि यह लड़ाई अब प्रदेश की ही नहीं अपितु पूरे हिंदुस्तान की है। विजय कालड़ा ने कहा कि हरदीप सरकारिया बधाई के पात्र है जिन्होंने चार प्रदेशों के आढ़तियों को एक मंच पर लाने का प्रयास किया है। अब हमारी यह एकजुटता एक सैलाब बननी चाहिए जो केंद्र सरकार को आढ़तियों के हितों के बारे में सोचने पर विवश कर दें।

इस दौरान निर्णय लिया गया कि 21 अगस्त को चार प्रदेशोंं की अनाज मंडी बंद रखकर काले बिल्ले लगाकर आढ़ती केंद्र सरकार के खिलाफ रोष जाहिर करेंगे और जिला स्तर पर प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम उपायुक्तोंं को ज्ञापन भी सौपेंगे। अगर इसके बावजूद भी सरकार अपने अध्यादेशों को वापिस नहीं लेती है तो आढ़ती बड़ा संघर्ष करने पर मजबूर होंगे। दि आढ़तियान एसोसिएशन सिरसा के महासचिव कश्मीरचंद कंबोज, उप प्रधान सुधीर ललित, विनोद खत्री व अमरसिंह भाटीवाल, कोषाध्यक्ष रविंद्र बजाज ने आए हुए सभी प्रदेशाध्यक्षों को स्मृति चिह्नï देकर सम्मानित किया।

इस बैठक में अमर सिंह बराड़ पंजाब उप प्रधान, पंजाब उप प्रधान राजेश जैन, हरबंस सिंह, सुखविंद्र सिंह, साधूराम, जितेंद्र बेरेटा, करनैल सिंह, जसवीर सिंह, राजस्थान से सुखदेव सिंह जाखड़, जयदयाल डूडी, भजनलाल कामरा, राकेश लीला, विनय जिंदल, कुलदीप कासनिया, हनुमान गोयल, पंजाब से जसविंद्र सिंह राणा, हरजीत सिंह शेरू, राजेंद्र कुमार, पुनीत जैन, पीपल सिंह मुक्तसर, अवतार सिंह तरणतारन, धीरज बरनाला, हरियाणा स्टेट अनाज मंडी एसोसिएशन के महासचिव विकास सिंघल, विकास अग्रवाल पंचकूला, कोषाध्यक्ष बिट्टू कालड़ा, सरंक्षक प्रेमचंद मित्तल व दूनीचंद अंबाला, उप प्रधान धर्मवीर मलिक, शिव कंबोज, रामअवतार तायल, अश्विनी शोरेवाला, हर्ष गिरधर रोहतक, सुरेंद्र मिचंनाबादी, सचिव विजय चौधरी व गुरदीप कामरा, पवन गुप्ता शाहबाद सहित अनेक गणमान्य मौजूद थे।

About Post Author

banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *