Saturday, November 28
राष्ट्रीय

14 सितंबर से 1 अक्टूबर तक चल सकता है संसद का मॉनसून सत्र, कोरोना के चलते होंगे कई बदलाव


नई दिल्ली। संसद के मॉनसून सत्र की शुरुआत 14 सिंतबर से हो सकती है। सूत्रों के अनुसार, कैबिनेट कमेटी ने सिफारिश की है कि 14 सितंबर से एक अक्टूबर तक मॉनसून सत्र चलाया जाए। कोरोना वायरस की वजह से देर से शुरू हो रहे मॉनसून सत्र में इस बार कई तरह के बदलाव देखने को मिल सकते हैं। संक्रमण से बचाव के लिए लोकसभा और राज्यसभा में बैठने की व्यवस्था में भी बदलाव किया जा रहा है। उचित दूरी का पालन करते हुए सदस्यों के बैठने के लिए दोनों चैंबरों और दीर्घाओं का इस्तेमाल होगा।


राज्यसभा सचिवालय के मुताबिक, सत्र के दौरान ऊपरी सदन के सदस्यों को दोनों चैंबर और दीर्घाओं में बैठाया जाएगा। भारतीय संसद के इतिहास में पहली बार इस तरह की व्यवस्था होगी जहां 60 सदस्य चैंबर में बैठेंगे और 51 सदस्य राज्यसभा की दीर्घाओं में बैठेंगे। इसके अलावा बाकी 132 सदस्य लोकसभा के चैंबर में बैठेंगे। लोकसभा सचिवालय भी सदस्यों के बैठने के लिए इसी तरह की व्यवस्था कर रहा है।


वहीं, राज्यसभा चैंबर के भीतर प्रधानमंत्री, सदन के नेता, विपक्ष के नेता और अन्य दलों के नेताओं के लिए सीटें चिन्हित की जाएंगी। पूर्व प्रधानमंत्री-मनमोहन सिंह और एच डी देवेगौड़ा के साथ ही केंद्रीय मंत्रियों और राज्यसभा सदस्य- रामविलास पासवान और रामदास आठवले के लिए भी सदन के चैंबर में चिन्हित सीटें होंगी। अन्य मंत्रियों को सत्तारूढ़ सदस्यों के लिए तय सीटों पर बैठाया जाएगा।


banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *