खेल

राष्ट्रीय खेल पुरस्कार : इस बार वर्चुअल हुई सेरेमनी, पीपीई किट पहनकर पहुंचीं रानी रामपाल

पहली बार 5 खिलाडिय़ों को मिला खेल रत्न पुरस्कार


नई दिल्ली।

नेशनल स्पोर्ट्स-डे के मौके पर शनिवार को खिलाडिय़ों और कोच को अवॉर्ड दिए गए। कोरोना के कारण पहली बार अवॉर्ड सेरेमनी राष्ट्रपति भवन में न होकर वर्चुअल तरीके से हुई। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अलग-अलग 7 कैटेगरी में 74 खिलाडिय़ों और कोच को पुरस्कार दिया।

खेल रत्न के लिए चुनीं गईं महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल पीपीई किट पहनकर स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के बेंगलुरु सेंटर में अवॉर्ड लेने पहुंचीं। इस साल पहली बार पांच खिलाडिय़ों को खेल रत्न दिया गया। इसमें रोहित शर्मा(क्रिकेटर), विनेश फोगाट(रेसलिंग), रानी रामपाल(हॉकी), मनिका बत्रा( टेबल टेनिस) और रियो ओलिंपिक में गोल्ड जीतने वाले पैरा एथलीट मरियप्पन थंगावेलु शामिल हैं।

इसमें से दो खिलाड़ी रोहित शर्मा और रेसलर विनेश फोगाट सेरेमनी में शामिल नहीं हुए। विनेश की एक दिन पहले ही कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, जबकि रोहित आईपीएल के लिए यूएई में हैं। इसके अलावा टेबल टेनिस प्लेयर मनिका बत्रा, 2016 के पैरालिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट मरिप्पन थंगावेलु साई सेंटर से अवॉर्ड सेरेमनी में जुड़े।

इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खिलाडिय़ों की हौसला अफजाई करते हुए कहा कि आप सबने यह सिद्ध किया है कि इच्छा, लगन और मेहनत के बल पर सभी बाधाओं को दूर किया जा सकता है। यही खेल-कूद की सबसे बड़ी विशेषता है, यही अच्छे खिलाड़ी का आदर्श है। आज का यह पुरस्कार समारोह, कड़ी मेहनत और समर्पण से प्राप्त की गई आप सबकी सफलता का उत्सव है।

उन्होंने आगे कहा कि आप सबने वर्षों की मेहनत, लगन और साहस के बल पर अपनी खास पहचान बनाई है। कोविड का यह दौर आप सबके तथा अन्य खिलाडयि़ों और प्रशिक्षकों के साहस और धीरज के इम्तिहान की घड़ी है। खेल मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि खिलाडी हमारी राष्ट्रीय संपत्ति है, मैं सभी नागरिकों से ये अनुरोध करता हूं कि सभी खिलाडियों का प्रोत्साहन करें। मैं सभी खिलाडियों को अपनी शुभकामनाएं देता हूं।

अवॉर्ड सेरेमनी से एक दिन पहले एथलेटिक्स कोच का निधन, रोहित खेल रत्न सम्मान पाने वाले चौथे क्रिकेटर


79 साल के एथलेटिक्स कोच पुरुषोत्तम राय को भी लाइफटाइम कैटेगरी में द्रोणाचार्य अवॉर्ड मिला। उनकी एक दिन पहले ही दिल का दौरा पडऩे से मौत हो गई थी। उन्होंने शुक्रवार शाम को नेशनल स्पोर्ट्स अवॉर्ड की ड्रेस रिहर्सल में हिस्सा लिया था। इसके बाद ही उनकी तबीयत बिगड़ी और इलाज के दौरान उनका निधन हो गया।

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार की शुरुआत 1991 में हुई थी और सबसे पहला अवॉर्ड चेस खिलाड़ी विश्वनाथ आनंद को मिला था। तब से लेकर अब तक 38 खिलाड़ी यह सम्मान हासिल कर चुके हैं। इसमें रोहित शर्मा चौथे क्रिकेटर हैं। उनसे पहले सचिन तेंदुलकर(1997), महेंद्र सिंह धोनी (2007) और विराट कोहली(2018) में यह अवॉर्ड हासिल कर चुके हैं।

इन 27 खिलाडिय़ों को मिला अर्जुन अवॉर्ड


अतनु दास आर्चरी, दुती चंद एथलेटिक्स, सात्विक साईराज बैडमिंटन, चिराट शेट्टी बैडमिंटन, विशेष बास्केटबॉल,
सूबेदार मानिक कौशिक बॉक्सिंग, लवलीना बॉक्सिंग, इशांत शर्मा क्रिकेट, दीप्ति शर्मा महिला क्रिकेट, सावंत अजय इक्विस्ट्रियन,
संदेश झिंगन फुटबॉल, अदिति अशोक गोल्फ, आकाशदीप सिंह हॉकी, दीपिका हॉकी, दीपक कबड्डी, सारिका सुधाकर खो-खो,
दत्तू बबन रोइंग, मनु भाकर शूटिंग, सौरभ चौधरी शूटिंग, मधुरिका सुहास टेबल टेनिस, दिविज सरन टेनिस, शिवा केशवन विंटर स्पोर्ट्स,
दिव्या काकरन रेसलिंग, राहुल अवारे रेसलिंग, सुयश नारायण जाधव पैरा स्वीमिंग, संदीप पैरा एथलेटिक्स, मनीष नरवाल पैरा शूटिंग,

द्रोणाचार्य अवॉर्ड (लाइफ टाइम कैटेगरी) में पुरस्कार पाने वालों में धर्मेंद्र तिवारी आर्चरी, पुरुषोत्तम राय एथलेटिक्स, शिव सिंह बॉक्सिंग,
कृष्ण कुमार हूडा कबड्डी, रमेश पठानिया हॉकी, नरेश कुमार टेनिस, विजय भालचंद्र मुनिश्वर पैरा पावर लिफ्टिंग, ओम प्रकार दाहिया रेसलिंग शामिल हैं।
द्रोणाचार्य अवॉर्ड (रेगुलर कैटेगरी) में योगेश मालवीय (मलखंब), जसपाल राणा (शूटिंग), कुलदीप कुमार हांडू (वुशू) और गौरव खन्ना (पैरा बैडमिंटन) शामिल हैं।


banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *