Saturday, November 28
समाचारहरियाणा

शराब कांड में किसी को बख्शा नहीं जाएगा : विज

पल पल न्यूज: चंडीगढ़, 6 नवंबर। आज हरियाणा विधानसभा सत्र का दूसरा दिन है। सदन में आज शराब घोटाले पर न सिर्फ हंगामा हुआ बल्कि विपक्ष की ओर से सवाल भी उठाए गए। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने आज इनेलो विधायक अभय सिंह चौटाला के ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर उत्तर देते हुए स्पष्ट रूप से कहा कि शराब घोटाले में वे किसी को भी नहीं छोड़ेंगे।

लॉकडाउन के दौरान हरियाणा में हुए शराब कांड पर बोलते हुए अभय सिंह चौटाला ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि जिस समय सड़क पर केवल पुलिस थी उस समय शराब के परमिट व गेट पास जारी किए गए, वह सब आबकारी विभाग की मिलीभगत से हुआ। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान शराब बनाने वाली फैक्टरियों को सेनिटाइजर बनाने की अनुमति दी गई थी, मगर उन फैक्टरियों ने इस आड़ में खुलेआम शराब बनाई व उसको बेचा। उन्होंने गृहमंत्री अनिल विज पर तंज कसते हुए कहा कि हरियाणा में ऐसा माना जाता है कि आप गब्बर की तरह काम करते हैं मगर इस मामले में सरकार में आपकी भी नहीं चली तथा एसआईटी के नाम पर एसईटी भी बनाई गई जिसे कोई अधिकार नहीं था तथा आबकारी विभाग के छोटे-छोटे अधिकारियों ने रिकॉर्ड देने से मना कर दिया। इस बहस में भाग लेते हुए कांग्रेस की वरिष्ठ विधायक किरण चौधरी, सुरेंद्र पंवार, कुलदीप वत्स ने भी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। किरण चौधरी ने तो यहां तक कह दिया कि एक गेट पास पर सैकड़ों शराब की गाडिय़ां फैक्टरियों से निकलती हैं और यह सब बड़े लोगों की मिलीभगत से जारी है। कांग्रेस विधायकों ने सोनीपत व पानीपत शराब कांड में दर्जनों लोगों की मौत पर सरकार की चुप्पी पर सवाल उठाए। बहस का जबाव देते हुए गृहमंत्री अनिल विज ने स्पष्ट करते हुए कहा कि लोग उनका नाम गब्बर ले रहे हैं पर वे गब्बर नहीं है, मैं अनिल विज हंू तथा मैं जिस भी कार्य को हाथ में लेता हूं उसे अंजाम तक पहुंचाता हंू। अब तक सरकार ने एक शराब फैक्टरी के मालिक को जेल भी भिजवाया है तथा शेष के विरुद्ध जांच जारी है। उन्होंने सदन को आश्वासन दिया कि लॉकडाउन के दौरान हुए शराब कांड की स्टेट विजीलेंस जांच कर रही है तथा जल्द ही इस कांड के दोषियों को सजा दिलवाई जाएगी। कुछ विधायकों द्वारा छोटी मछलियों को पकडऩे व बड़े लोगों जिनमें बड़े अधिकारी भी शामिल हैं, के विरुद्ध कार्रवाई न करने का आरोप लगाने पर अनिल विज ने स्पष्ट किया कि उनके सामने छोटी व बड़ी मछली कोई नहीं है, जो भी दोषी होगा उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। विधायकों के बार-बार हस्तक्षेप करने पर उन्होंने स्पष्ट कहा कि चाहे कोई आईएएस हो या आईपीएस, जो भी अधिकारी दोषी होगा, बख्शा नहीं जाएगा। कांग्रेस के एक विधायक कुलदीप वत्स द्वारा जब सोनीपत शराब कांड पर कोई कार्रवाई न करने की बात कही तो गृहमंत्री ने कहा कि वे न केवल इस कांड की जांच के आदेश दे चुके हैं जबकि एक इंस्पेक्टर सहित दो पुलिस अधिकारियों को, जिनके क्षेत्र में यह कांड हुआ है तुरंत प्रभाव से निलंबित किया गया है।
हरियाणा के किसान फसल बीमा से संतुष्ट : मनोहर लाल
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से प्रदेश के किसान सन्तुष्ट हैं। बीमा योजना के वैकल्पिक होने के बावजूद अब किसान स्वयं अपनी फसलों का बीमा करवाने के लिए आगे आ रहे हैं, जबकि कुछ राजनेता बीमा योजना पर गलतफहमियां फैलाने का काम कर रहे हैं।


मुख्यमंत्री, जो विधानसभा में सदन के नेता भी हैं, आज हरियाणा विधानसभा सत्र में प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस की विधायक किरण चौधरी द्वारा पूछे गये एक पूरक प्रश्न के उत्तर में सदन में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि तीन कम्पनियों को फसल बीमा करने का कार्य सौंपा गया है तथा यह कार्य निविदा के माध्यम से कम्पनियों को आवंटित किया गया है। पूरे प्रदेश को चार कलस्टरों में बांटा गया है और हर कलस्टर की फसल के अनुसार अलग-अलग प्रीमियम है। पहले क्लस्टर में यह 10.96 प्रतिशत है, दूसरे में 8.11 प्रतिशत, तीसरे और चौथे में 8.49 प्रतिशत है। मुख्यमंत्री ने सदन को यह भी जानकारी दी कि अलग-अलग राज्यों ने अपनी भौगोलिक स्थिति के अनुसार कलस्टर बनाए हैं। राजस्थान ने 12 कलस्टर बनाए हैं। उन्होंने कहा कि बीमा कम्पनियां फ्री में नहीं बल्कि लाभ के लिए ही काम करती हैं। उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी कि कुछ किसानों को तो पता ही नहीं कि उन्होंने अपनी फसलों का बीमा करवाया था परंतु उनके खातों में क्लेम के रुपये आए हैं। इसको देखते हुए किसान स्वयं बीमा करवाने के लिए आगे आ रहे हैं।

banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *