राष्ट्रीयहरियाणा

सब की सहमति से प्रश्नकाल का फैसला : राजनाथ


नई दिल्ली प्रश्नकाल के मुद्दे पर कांग्रेस के आरोप का जवाब देते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बहुत से नेताओं से मैंने भी बातचीत की है। असाधारण परिस्थितियों में संसद की कार्यवाही हमको करनी पड़ रही है। 4 घंटे के लिए सदन चलेगा और मैंने अनुरोध किया था कि उसमें प्रश्नकाल न हो। आधे घंटे का एक जीरो आवर हो। राजनाथ सिंह ने कहा कि अधिकांश राजनीतिक पार्टियों के नेताओं की सहमति के बाद ही यह फैसला किया गया था। स्पीकर ओम बिरला ने कहा कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि लोकसभा के सांसद राज्यसभा और राज्यसभा के सांसद लोकसभा में बैठेंगे। हम अभूतपूर्व स्थिति में बैठे हैं। हम इस सत्र को कोविड प्रोटोकॉल के तहत चला रहे हैं।ऑनलाइन सवाल के लिए ऐप विकसित किया है। स्पीकर ने कहा कि इस बार हमने सांसदों को सदन में बैठकर बोलने की इजाजत दी है।

लोकतंत्र का गला घोंटने का प्रयास : अधीर रंजन
लोकसभा में कांग्रेस के सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि प्रश्नकाल बेहद महत्वपूर्ण है, लेकिन आप कहते हैं कि परिस्थितियों के कारण इसे आयोजित नहीं किया जा सकता है। आप सदन को चलाते हैं, लेकिन प्रश्नकाल को समाप्त कर देते हैं। आप लोकतंत्र का गला घोंटने का प्रयास कर रहे हैं। विपक्ष के अन्य सदस्यों ने भी कहा कि प्रश्नकाल और प्राइवेट मेंबर बिजनेस होना जरूरी है।
लोकसभा में प्रणव मुखर्जी को श्रद्धांजलि
पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन पर लोकसभा में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। स्पीकर ओम बिड़ला ने उनका जिक्र करते हुए कहा कि वह एक सफल वक्ता और प्रशासक थे। उनका ज्ञान और अनुभव अद्वितीय था। इसके बाद सदन की कार्यवाही को एक घंटे के लिए स्थगित कर दिया गया।

banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *