Friday, December 4
राष्ट्रीयसमाचारहरियाणा

पीजीआई के डॉक्टर ने किया सुसाइड, पत्नी दो बेटियों सहित जलघर में कूदी

रोहतक (दर्शन अरोड़ा)। रोहतक की हेल्थ यूनिवर्सिटी के नर्सिंग कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर ने बुधवार शाम को सल्फॉस खाकर सुसाइड कर लिया। इसकी सूचना जैसे ही उसकी पत्नी को मिली तो डॉक्टर की पत्नी ने सोनीपत रोड स्थित सेक्टर-2 के जलघर में अपनी दो बेटियों के साथ छलांग लगा दी। छोटी बेटी और डॉक्टर की पत्नी की भी मौत हो गई। बड़ी बेटी को तैरना आता था, वह बच निकली। एक परिजन के घर जाकर उसने पूरी सूचना दी। डॉक्टर की पत्नी और बेटी का शव गुरुवार सुबह जलघर से निकाला गया। डॉक्टर ने मरने से पहले एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था लेकिन उसमें सुसाइड का कारण स्पष्ट नहीं है। पुलिस फिलहाल मामले में कार्रवाई कर रही है।
नर्सिंग कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. प्रमोद सहारण ने बुधवार शाम 6 बजे कन्हेली के पास सल्फॉस खाकर सुसाइड कर लिया था। उनकी जेब से सल्फॉस के 5 पाउच मिले थे। उनके सुसाइड की की खबर जैसे ही पत्नी मीनाक्षी को मिली तो वह दो बेटियों को अपनी स्कूटी पर बैठाकर घर से चली गई। मीनाक्षी ने दोनों बेटियों के साथ रोहतक के सोनीपत रोड पर स्थित सेक्टर-2 के जलघर के टैंक में छलांग लगा दी। मीनाक्षी और उसकी छोटी बेटी की मौत हो गई, जबकि बड़ी बेटी को तैरना आता था तो वह बच गई। वह एक परिचित के घर पहुंची और पूरी घटना बताई। इसके बाद पुलिस जलघर पर पहुंची। वहां मीनाक्षी की स्कूटी भी खड़ी मिली।
ये लिखा था सुसाइड नोट में


डॉक्टर प्रमोद सहारण ने सुसाइड नोट में लिखा था कि जिंदगी की भागदौड़ से तंग आ गए हैं। भगवान ही उनकी मौत का जिम्मेदार है। किसी दूसरे को पुलिस कसूरवार न ठहराए। डॉक्टर प्रमोद मूलरूप से राजस्थान के राजगढ़ जिले के रहने वाले थे। उनकी शादी चरखीदादरी की मीनाक्षी सांगवान से हो रखी थी। मीनाक्षी सरकारी स्कूल में बायोलॉजी की लेक्चरर थी।

banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *