Tuesday, October 20
राष्ट्रीयसमाचार

अब सामना में शिवसेना ने राज्यपाल को घेरा

मुंबई। महाराष्ट्र में मंदिर खोलने को लेकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखा। मुख्यमंत्री ने भी इसका जवाब देते हुए कहा था कि उन्हें राज्यपाल से अपने हिंदुत्व का प्रमाण नहीं चाहिए। अब पार्टी के मुखपत्र सामना में राज्यपाल पर सवाल उठाए गए हैं। सामना में लिखा है कि राज्यपाल के पद पर आसीन व्यक्ति को कैसा व्यवहार नहीं करना चाहिए, यह भगत सिंह कोश्यारी ने दिखा दिया है। मुखपत्र में लिखा है कि राज्यपाल ने आ बैल मुझे मार जैसा व्यवहार किया लेकिन वे ये कैसे भूल गए कि यहां बैल नहीं बल्कि शेर है। शिवसेना ने लिखा कि श्रीमान कोश्यारी कभी संघ के प्रचारक या भाजपा के नेता रहे भी होंगे। लेकिन आज वे महाराष्ट्र जैसे प्रगतिशील राज्य के राज्यपाल हैं, लगता है वे इस बात को अपनी सुविधानुसार भूल गए हैं। महाराष्ट्र भाजपा के नेता रोज सुबह सरकार की बदनामी करने की मुहिम शुरू करते हैं। यह समझा जा सकता है लेकिन उस मुहिम का कीचड़ राज्यपाल अपने ऊपर क्यों उड़वा लेते हैं? भाजपा महाराष्ट्र में सत्ता गंवा चुकी है। यह बड़ी पीढ़ा है लेकिन इससे हो रहे पेटदर्द पर राज्यपाल द्वारा हमेशा लेप लगाने में कोई अर्थ नहीं। यह पीढ़ा आगामी चार साल तो रहने ही वाली है।

banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *